हरकी पैड़ी से चंडीदेवी के बीच रोपवे और ऋषिकेश मेंट्रो का प्रस्ताव जल्द कैबिनेट में रखा जाएगा।

अजब गजब खबरे पर्यटन

हरकी पैड़ी से चंडीदेवी के बीच प्रस्तावित रोपवे और ऋषिकेश मेट्रो का प्रस्ताव जल्द कैबिनेट में रखा जाएगा। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने मंगलवार को सचिवालय में दून, हरिद्वार और ऋषिकेश में लाइट मेट्रो एवं रोपवे परियोजना को लेकर बैठक ली।उन्होंने अधिकारियों से कहा कि इस परियोजना के प्रस्ताव व डीपीआर जल्द पूरे कर लिए जाएं। उन्होंने मुख्य सचिव ओम प्रकाश को निर्देश दिए कि हरिद्वार के भीतर संचालित होने वाले पॉड टैक्सी और देहरादून शहर में प्रस्तावित रोपवे परियोजना के लिए डीपीआर हर हाल में नवंबर तक तैयार कर ली जाए।

हर की पौड़ी या हरि की पौड़ी भारत के उत्तराखंड राज्य की एक धार्मिक नगरी हरिद्वार का एक पवित्र और सबसे महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है हर की पौड़ी अर्थात हरीयानी नारायण के चरण हिन्दू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार समुद्र मन्थन के बाद जब विश्वकर्माजी अमृत के लिए झगड़ रहे देव-दानवों से बचाकर अमृत ले जा रहे थे तो पृथ्वी पर अमृत की कुछ बूँदें गिर गई और वे स्थान धार्मिक महत्व वाले स्थान बन गए।

 

अमृत की बूँदे हरिद्वार में भी गिरी और जहाँ पर वे गिरी थीं वह स्थान हर की पौड़ी था। यहाँ पर स्नान करना हरिद्वार आए हर श्रद्धालु की सबसे प्रबल इच्छा होती है क्योंकि यह माना जाता है कि यहाँ पर स्नान से मोक्ष की प्राप्ति होती है।
हर साल हजारों श्रद्धालु हर की पौड़ी के दर्शन के लिए आते हैं। श्रद्धालुओं की सहूलियत को देखकर हर साल कुछ नए इंतजाम श्रद्धालुओं के लिए किए जाते हैं इसी के साथ अब यह फैसला लिया गया है कि हर की पौड़ी से चंडीदेवी के बीच रेपवे बनाया जायेगा।

सरकार मेट्रो और रोपवे परियोजनाओं को लेकर गंभीर।केंद्र से वार्ता के बाद तय होगा कि परियोजनाएं पीपीपी मोड में तैयार होंगी या इसका कोई और स्वरूप होगा। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कौशिक ने कहा कि सरकार मेट्रो और रोपवे परियोजनाओं को लेकर गंभीर है।
बीते तीन साल में इस परियोजना को लेकर बात काफी बढ़ी है। उन्होंने कहा कि हरकी पैड़ी से चंडीदेवी के बीच प्रस्तावित रोपवे और ऋषिकेश मेट्रो का प्रस्ताव 15 दिनों के भीतर कैबिनेट के सम्मुख रखा जाएगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.