मुफलिसीः नेहा कक्कड़ को सुरों की तान सिखाने वाले गुरू दून में टिन शेड में रहने को मजबूर,ऐसे कर रहे गरीबी में गुजारा

अजब गजब खबरे बॉलीवुड

बॉलीवुड सिंगर नेहा कक्कड़ किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं। वह आज बॉलीवुड की सबसे पॉपुलर सिंगर हैं। उन्होंने एक से बढ़कर एक हिट गाने गाए हैं। वहीं उनकों  सुरों की तान सिखाने वाले उनके पहले गुरू बिशन आजाद देहरादून में मुफलिसी में दिन काट रहे हैं उनका कोई पूछने वाला नहीं। ये हाल तब है जब नेहा आती रहतीं है। यहां उनका घर है। लेकिन वो शायद अपने गुरू को भूल गई है।

बता दें कि नेहा कक्कड़ ने अपना नया आशियाना बनवाया है। यहां हनुमंत पुरम गली नंबर 3 में बने भव्य आशियाने के गृह प्रवेश के अवसर पर नेहा कक्कड़ और उनके परिवार के सदस्यों ने निर्धन लोगों को कंबल वितरण भी किए थे। लेकिन उनके गुरू टिन शेड में रहने को मजबूर है।

मुफलिसी में दिन काट रहे बिशन आजाद

आपको बता दें कि बिशन आजाद ही थे जिन्होंने पहली बार नेहा कक्कड़ को एक जागरण में माइक थमाकर संगीत की दुनिया में कदम रखने का मौका दिया था। इसकी एक तस्वीर कुछ दिन पहले नेहा कक्कड़ ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी साझा की थी। जबकि, दूसरी फोटो में नेहा की बचपन की है, जिसमें वह जागरण में माइक पर गाना गा रही हैं। जिसमें बिशन आजाद के लिए नेहा ने लिखा था कि यह तस्वीर उपलब्ध कराने के लिए सर आपका धन्यवाद। यह तस्वीर देकर आपने मुझे और ज्यादा मेहनत करने के लिए शक्ति दी है, जय माता दी।

मोती बाजार में एक टीन शेड के नीचे रहने को मजबूर 75 वर्षीय बिशन आजाद ने बताया कि करीब 25 साल पहले वह जागरण पार्टी में भजन गायन करते थे, जिसमें अक्सर नेहा कक्कड़ के माता पिता भी जाया करते थे। वहीं, बिशन के पड़ोसी आशीष सक्सेना ने बताया कि एक जागरण में बिशन ने नेहा कक्कड़ को गाने का मौका दिया था। चार मई को नेहा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर दो तस्वीरें साझा की थीं। एक तस्वीर में गायिका नेहा कक्कड़ के साथ बिशन आजाद हैं।

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.