स्कूल खुलते ही छात्र निकला कोरोना पॉजिटिव

अजब गजब खबरे

ऐसा ही कुछ उत्तराखंड में भी हो रहा है, जिससे हर कोई भयभीत है। हर कोई जानता है कि अनलॉक के तहत, उत्तराखंड में आज से स्कूल खोले गए हैं। जैसा कि हो सकता है, स्कूलों में काम करना मुश्किल है। बच्चों को कक्षा में बुलाना खतरे से मुक्त नहीं है। आज के बाद से, उत्तराखंड में स्कूल खुल गए हैं और पहले दिन, 12 वीं कक्षा की अंडरस्टैंड की कोरोना रिपोर्ट को सकारात्मक पाया गया है, जिसने उस बिंदु से आगे स्कूल में हंगामा खड़ा कर दिया है। इस मुद्दे में शिक्षा कार्यालय को इसी तरह शिक्षित किया गया है। कोरोना पॉजिटिव समझ में आने के बाद, अलग-अलग समझ के साथ उनका परिवार भी इसी तरह डरा हुआ है। इस मामले की पहचान अल्मोड़ा क्षेत्र के रानीखेत में स्थित सड़क स्कूल के मध्य में हुई है। सभी को एहसास होगा कि आज से उत्तराखंड के स्कूलों में काम किया जा रहा है। ऐसी परिस्थिति में, कक्षा बारहवीं की एक समझ ताज के सकारात्मक परीक्षण पर पहुंची। इसके बाद इसमें मिलावट हुई। आंकड़ों के बाद, संगठन ने स्कूल को 3 दिनों के लिए बंद करने का अनुरोध किया है।

अल्मोड़ा के रानीखेत स्टेशन के समीप एक इंटरमीडिएट कॉलेज में आज से स्कूल खुलने के बाद वहां पर छात्र छात्राएं विद्यालय पहुंचे। इस दौरान एक छात्र भी विद्यालय आया। वहीं दूसरी ओर उसके चाचा एवं चाची अपना स्वास्थ्य खराब होने के चलते पास ही के नागरिक चिकित्सालय पहुंचे जहां पर रैपिड टेस्ट में उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं चिकित्सालय द्वारा इस बात की सूचना विद्यालय को दे दी गई और जब छात्र का रैपिड टेस्ट हुआ तो वह भी पॉजिटिव आया जिसके बाद वहां पर हड़कंप मच गया। विद्यालय के खुलने पर निरीक्षण के लिए निकली संयुक्त मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडे उच्च विद्यालय में पहुंची जहां उनको छात्र के पॉजिटिव होने की सूचना मिली। संयुक्त मजिस्ट्रेट ने विद्यालय प्रशासन को छात्र के संपर्क में आए सभी कक्षा के विद्यार्थियों का कोरोना टेस्ट और उनको एवं उनके परिजनों को 3 दिन तक होम आइसोलेट रहने के आदेश दिए हैं

इसके साथ, वर्ग के सभी शिक्षकों ने इसके अलावा मुकुट परीक्षण को पूरा करने की व्यवस्था की है। स्कूल को साफ करने और इसे 3 दिनों के लिए बंद रखने के लिए अनुरोध किया गया है। हेड सुनील मसीह ने बताया कि स्कूल खुलने के बाद, स्टूडेंट्स को स्कूल जाने के लिए समझने वाले लोगों की गर्मजोशी के साथ-साथ सामाजिक अलगाव के साथ अध्ययन कक्ष में समझा गया। उन्होंने शिक्षित किया कि संगठन के संबंध में अनुरोध के बाद, स्कूल 3 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अपूर्व पांडे ने कहा कि स्कूल में बारहवीं की पॉजीटिव पास होने के बाद स्कूल को 3 दिनों के लिए बंद रखने का अनुरोध किया गया है। इसके साथ ही, स्कूल संगठन को अतिरिक्त रूप से अपने समूह के सभी समझदारों और प्रशिक्षकों के लिए आदेश हैं, जिन्होंने समझदारी के साथ बातचीत की, ताकि वे घर से बाहर रह सकें। उनका कहना है कि 3 दिनों के बाद स्कूल में एक बार फिर काम किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.