ऋषिकेश ताज होटल में कोरोना पॉजिटिव हुए 82 कर्मचारी..फिर भी स्वास्थ्य कर्मियों से किया बुरा सलूक

खबरे पर्यटन शहर

ऋषिकेश के मशहूर होटल ताज को 2 दिन के लिए बंद किया गया था। ऋषिकेश के ताज होटल में हाल ही में कोरोना बम फूटा था और 97 में से 83 कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद वहां पर हड़कंप मच गया था और आनन-फानन में ताज होटल को 2 दिन के लिए सील कर दिया गया। इतनी बड़ी संख्या में केस आने के बाद भी ताज होटल के प्रशासन का रवैया निराश करने वाला है। बता दें कि बीते मंगलवार को होटल के अन्य कर्मचारियों का सैंपल लेने स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची थी मगर होटल प्रशासन ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया और उनको होटल के अंदर आने ही नहीं दिया। जी हां, स्वास्थ्य कर्मियों ने उन को समझाने का काफी प्रयास किया मगर होटल प्रशासन नहीं माना और इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम को बिना सैंपल लिए वापस लौटना पड़ा।


आपको बता दें कि ऋषिकेश- बदरीनाथ हाईवे पर सिंगथाली में स्थित ताज होटल में लगातार कोरोना संक्रमितों के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। होटल में अभी तक 97 में से 83 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद सभी को कोविड केयर सेंटर में रखा गया है और होटल को भी 2 दिन के लिए सील किया गया था।बीते मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम अन्य स्टाफ और पर्यटकों का सैंपल लेने के लिए होटल आए थे। मगर सुरक्षाकर्मियों ने स्वास्थ्य कर्मियों की टीम को होटल के अंदर घुसने ही नहीं दिया और उनको होटल से ही वापस लौटा दिया। काफी देर इंतजार करने के बाद भी टीम को अंदर नहीं जाने दिया गया जिसके बाद टीम वापस लौट गई। सबसे गंभीर बात यह है कि होटल में ठहरे सभी पर्यटकों को दूसरे होटलों में शिफ्ट कर दिया गया है। ऐसे में सबको यही डर सता रहा है कि अगर उनमें से कोई संक्रमित निकल गया तो आगे खतरा और भी अधिक बढ़ जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ताज को छोड़ चुके कुछ पर्यटकों के कोरोना सैंपल ले लिए हैं और ताज होटल के अन्य कर्मियों की जांच करने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.