देहरादून में नेपाल से आई…. I’P’S’ ने फे’ल किया प्ला’न’

खबरे शहर

उत्तराखंड में स्मै”क” त”स्क”री” बे”ह”द” तेजी से बढ़ रही है। लोग लगातार ”स्मै”क” त”स्क”री” के गै”र का”नू”नी” ”धं”’धे’ में शा”मि”ल’ हो रहे हैं। पैसे कमाने की इस होड़ में न जाने कितने ही गि”रो”ह’ इस समय उत्तराखंड में स”क्रि”य”’ हो रखे है। वहीं उत्तराखंड पु”लि”स” ”स्मै”क” तस्करों के गि”रो”ह” को प’क’ड़’ने’ के लिए ए’क्श’न मो’ड” में नजर आ रही है। हा”ल” ही में देहरादून पु”लि”स” ने नेपाल से लाखों की अ”फी”म” लेकर पहुंचे देहरादून में तीन लोगों को गि”र”फ्ता”र” कर लिया है। क्लेमनटाउन था”ना पु”लि”स’ ने तीनों आ”रो”पि”यों को गि”र”फ्ता”र” कर उनके खिलाफ एनडीपीएस ए”क्ट” में मु”क”द’मा’ द”’र्ज” किया है। बता दें कि उनके पास से ब”रा”म”द की गई अ”फी”म” की कीमत लगभग 35 लाख बताई जा रही है..डीआईजी एसटीएफ रिद्धिम अग्रवाल के अनुसार बीते 9 नवंबर की रात को उनको यह सूचना मिली कि क्लेमेनटाउन क्षेत्र में नेपाल से आए तीन युवक न”शी”ले” प”दा”र्थों” की डिलीवरी करने पहुंचे हैं। उनके पास लाखों रुपयों की खे”प है। सूचना मिलने पर पु”लि”स ने तुरंत ए”क्शन लिया और सीओ अंकुश मिश्रा अ”प”नी” पु”लि’स टीम समेत मौके पर पहुंचे और वहां स्थित एक ढाबे में छा”पे”मा”री की जहां पर नेपाल से आए ”स्मै’क’ त”स्क”रों” को पूछताछ के लिए’ हि”रास’त’ में लिया गया।

थ्रोट के माध्यम से देखने के मद्देनजर, 6 किलो 845 ग्राम अ”फी’म” उनके पास से निकाली गई, जिसकी कीमत लगभग 35 लाख रुपये है। तीनों में से प्रत्येक को संबोधित करने के लिए पु”लि”स मुख्यालय लाया गया था। जिरह के दौरान, निंदा ने व्यक्त किया कि वह नेपाल का रहने वाला है। वह उत्सुकता के लिए देहरादून आया था। दो”षों” को मारीच तमांग, मिलनसी और सिंधु पाल के रूप में मान्यता दी गई है। तीनों में से हर एक नेपाल का रहने वाला है। क्रॉस परीक्षा के दौरान, पु”लि”स” ने एक बड़ी मुश्किल स्थिति का सामना किया। भाषा को न समझने के परिणामस्वरूप, वे दो”ष”पूर्ण रूप से दो”ष नहीं दे सकते थे। तीनों में से प्रत्येक ने नेपाली भाषा में प्रतिक्रिया व्यक्त की, जिसे समझना पु”लि”स के लिए कठिन था। ”पु”लि”स ने संकेतों और अन्य की सहायता से भाषा का संकलन किया। पंकज मिश्रा ने कहा कि जिरह के बाद, उनके पास से एक दवा का स्था”नां”त”र’ण किया गया और एनडीपीएस अधिनियम के तहत एक दावा द”र्ज” किया गया और तीन को अदा”ल’त में पेश किया गया और जे”ल” भेज दिया गया। इसी तरह के एक डीआईजी रिद्धिम ने पु”लि”स”’ समूह को 5000 रुपये का मु”आ”व’जा’ देने की घो”’ष’णा की है, जिसे ”स्मै”क” बूटलेगर का अधिकार मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.