उत्तराखंड रुद्रप्रयाग के अंकित बुटोला ने बढ़ाया मान वैज्ञानिक बने नार्वे में पोस्ट डॉक्टरल …..

खबरे शहर

उत्तराखंड के होनहार वैज्ञानिक डॉ। हित बुटोला ने अपने ज्ञान और मेहनत की बदौलत एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। डॉ। It बुटोला अब और में वैज्ञानिक के तौर पर सेवाएं देगा। उनका प्रशिक्षण के यूआईटी द आर्कटिक विश्वविद्यालय में पोस्ट डॉक्टरल वैज्ञानिक के रूप में चयन हुआ है। डॉ। It बुटोला मूलरूप से उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के रहने वाले हैं। उनका परिवार अग्यमुनि क्षेत्र में रहता है। उनके नाम कई उपलब्धियां दर्ज हैं। अंकित बुटोला ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी दिल्ली से भौतिक विज्ञान में वर्ष 2020 में पीएचडी की। इस दौरान उनके दो दिशानिर्देश और 25 से ज्यादा रिसर्च पेपर प्रकाशित हुए। पीएचडी के बाद पोस्ट डॉक्टरेट वैज्ञानिक के तौर पर संबंधित विषय में शोध किया जाता है। जीत की सफलता कई मायनों में खास है। उनका परिवार जखोली ब्लॉक के बस्ता गांव में रहता है। जीत के पिता जीतपाल सिंह बुटोला एलायंस हर्बलिस्ट हैं। उनका विजयनगर में मेडिकल स्टोर है।

DJLOF. AÔdIY°F ¶F¼MXFZ»FF

अंकित की शुरुआती पढ़ाई सरस्वती शिशु मंदिर से हुई। बाद में उन्होंने अगस्त्यमुनि के सरकारी स्कूल से इंटर किया। अंकित शुरू से ही मेधावी रहे, विज्ञान विषय में उनकी विशेष रुचि थी। स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद अंकित ने गढ़वाल यूनिवर्सिटी से साल 2012 में ग्रेजुएशन किया। साल 2015 में उन्होंने जीबी पंत कृषि एवं प्रौद्योगिक यूनिवर्सिटी पंतनगर से भौतिक विज्ञान में मास्टर डिग्री हासिल की। मास्टर डिग्री की पढ़ाई के दौरान अंकित नेट-जेआरएफ, गेट और भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र की परीक्षाओं में भी सफल रहे। अब पहाड़ में पले-बढ़े मेधावी अंकित को यूरोपीय संघ के सबसे लोकप्रिय और प्रतिष्ठित ईआरसी ग्रांट के तहत पोस्ट डॉक्टरल वैज्ञानिक के रूप में चुना गया है। अंकित की सफलता से उनके गृह जनपद में खुशी की लहर है। स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने भी अंकित को बधाई देकर उनका हौसला बढ़ाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.