कड़ाके की ठंड के साथ उत्तराखंड में होगा नये साल का आगाज़..

खबरे प्रकृति मौसम शहर

उत्तराखंड में ठंड का प्रकोप जारी है। राज्य में इस समय कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पहाड़ से लेकर मैदान तक हर जगह सर्दियों ने लोगों को परेशान कर रखा है। पहाड़ी इलाकों में लगातार बर्फबारी हो रही है जिसका असर मैदानी इलाकों पर भी पड़ रहा है। लगातार हो रही बर्फबारी और बरसात से राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में पारा शून्य की तरफ लुढ़क रहा है। उम्मीद थी कि नए साल पर राज्य में लोगों को ठंड से निजाद मिलेगी मगर नए साल पर भी हाड़ कंपा देने वाली ठंड पड़ेगी। उत्तराखंड में नए साल का स्वागत कड़ाके की ठंड के बीच में होगा। जी हां, मौसम विभाग ने इस बारे में सूचना जारी कर दी है मौसम विभाग के अनुसार 1 जनवरी तक प्रदेश में शीतलहर का प्रकोप जारी रहेगा और कई स्थानों पर कोल्ड डे कंडीशन भी बन सकती है। इसी बीच मौसम विभाग ने 2 जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी कर दिया है। चलिए आपको बताते हैं कि वे 2 जिले कौन से हैं जहां पर मौसम विभाग में येलो अलर्ट जारी कर दिया है। उधम सिंह नगर हरिद्वार में मौसम विभाग ने सुबह और शाम घने कोहरे के कारण यलो अलर्ट जारी कर दिया है।

पहाड़ों पर बर्फ के ऊपर पाला पड़ने से भी दिक्कतें बढ़ सकती हैं। कुल मिलाकर उत्तराखंड के निवासियों को नए साल पर भी ठंड से राहत नहीं मिलेगी। राज्य में नए साल का आगमन भी बर्फीली और सर्द हवाओं के साथ होगा। उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में लगातार बर्फबारी हो रही है। बीते सोमवार को प्रदेश के चारों धामों में जमकर बर्फबारी हुई। उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग की पहाड़ियां भी बर्फ से ढक गईं। चंपावत में पारा शून्य के करीब पहुंच चुका है। पिथौरागढ़ अल्मोड़ा और मुक्तेश्वर में भी न्यूनतम तापमान 1 डिग्री सेल्सियस से भी कम रिकॉर्ड किया गया है। पहाड़ों पर लगातार हिमपात हो रहा है और बारिश के साथ बर्फीली हवाएं भी चल रही हैं। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि आने वाले दिनों में पर्वती क्षेत्र में पाला पड़ने से बर्फ और ठोस हो जाएगी। ऐसे में अगर आप भी पहाड़ों पर अपना वाहन लेकर आएं तो सतर्कता जरूर बरतें।

हमें आपको प्रत्येक क्षेत्र के सबसे बड़े और सबसे कम तापमान के बारे में बताने के लिए अनुमति दें। देहरादून में सबसे ज्यादा 21.5 और कम से कम 05.1 तापमान दर्ज किया गया। उत्तरकाशी पर चर्चा करते हुए, उत्तरकाशी में 13.2 का सबसे चरम तापमान और 2.7 का आधार तापमान था। टिहरी क्षेत्र में 12.2 का सबसे अधिक तापमान और 2.8 का न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। मसूरी का तापमान 10.5 और कम से कम 2.0 दर्ज किया गया। हरिद्वार के बारे में चर्चा, हरिद्वार में सबसे बड़ा तापमान 18.8 और आधार तापमान 5.4 था। पिथौरागढ़ में तापमान 15.7 और सबसे कम 0.3 था। जोशीमठ में 7.5 का न्यूनतम तापमान और कम से कम 1.2 दर्ज किया गया। अल्मोड़ा क्षेत्र में सबसे अधिक 18.7 और न्यूनतम तापमान 0.2 डिग्री दर्ज किया गया। यूएसए शहर में 20.2 और कम से कम 3.1 डिग्री का सबसे बड़ा तापमान दर्ज किया गया। नैनीताल में सबसे अधिक 13.1 और कम से कम 3 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। चंपावत क्षेत्र में राज्य में सबसे कम तापमान है। चंपावत क्षेत्र में स्थानीय लोगों की भीड़ का सबसे कम तापमान दर्ज किया गया। चंपावत में सबसे अधिक 13.7 और न्यूनतम 0.1 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.