हादसा: नदी में बहे 6 यात्री, 5 को बचाया गया एक कि मौ”त

खबरे नदिया शहर

उत्तराखंड के ऋषिकेश से एक दुः”खद घटना हुई है। ऋषिकेश में हरियाणा के बिलासपुर से 6 यात्री घूमने आये हुए थे। वही सभी यात्री लक्ष्मण झूला क्षेत्र में गंगा स्नान के दौरान वो पानी की तेज धारा में बह गए।


इसके बाद मौके पर हड़कंप मच गया और लोगों ने पुलिस को इस बारे में सूचना दी। स्थानीय पुलिस और जल पुलिस की मदद से पांच युवकों को बचाया गया वही एक युवक की गंगा नदी में डूबने से मौत हो गई। मृतक की पहचान कपिल के रूप में हुई है बताया जा रहा है कि 6 यात्रियों का एक दल ऋषिकेश लक्ष्मण झूला पहुंचा था। इसके बाद वह लक्ष्मण झूला घाट में स्नान करने के लिए नदी किनारे पहुंचे।
जिसके बाद वह नदी की तेज धारा में बहने लगे। आसपास के लोगों ने शोर मचाया तो तुरंत ही मौके पर जल पुलिस और स्थानीय पुलिस पहुंची। तब बड़ी मुश्किल से 5 लोगों की जान बचाई गई जबकि एक यात्री गंगा के तेज बहाव में बह गया। खोजबीन के लिए एसडीआरएफ के गोताखोरों को बुलाने के लिए संपर्क किया गया है।
कहा है

लक्ष्मण झूला


लक्ष्मण झूला(अंग्रेज़ी:Lakshman Jhula), गढ़वाल, उत्तरांचल में हिमालय पर्वतों के तल में बसे ऋषिकेश में प्रमुख पर्यटन स्थल है। ऋषिकेश से 5 किलोमीटर आगे एक झूला है, इस झूले को लक्ष्मण झूले के नाम से जाना जाता है। लोहे के मज़बूत रस्सों, एंगलों, चद्दरों आदि में बंधा व कसा हुआ लक्ष्मण झूला (पुल) गंगा के प्रवाह से 70 फुट ऊँचा स्थित है। गंगा नदी के एक किनारे को दूसरे किनारे से जोड़ता लक्ष्मण झूला ऋषिकेश की ख़ास पहचान है। पूर्व में यह झूला लक्ष्मण जी द्वारा निर्मित था। कालान्तर में अर्थात् सन् 1939 ई. में इसे नया स्वरूप दिया गया। 450 फीट लंबे लक्ष्मण झूले के समीप ही लक्ष्मण और रघुनाथ मंदिर हैं।
कई बार ऐसी घटनाएं सामने आ चुकी है परंतु प्रशासन की ओर से इस पर अधिक ध्यान नही दिया गया। तभी ऎसी घटनाएं सामने आती रहती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.