दर्द”नाक घट”ना: साइकिल पर जा रहे युवक पर 1100 केवी का हाईटेंशन तार टूटकर गिर, युवक की मौके पर मौ”त

खबरे शहर

हल्द्वानी से एक दर्दनाक घटना सामने आई है।जहा आज सुबह एक युवक पर 1100 केवी का हाईटेंशन तार टूटकर गिर गया जिससे युवक की मौके पर ही मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार दमुवाढुंगा निवासी कमल रावत नैनीताल रोड पर एसके नर्सिंग होम में नौकरी करता था।शुक्रवार की सुबह साइकिल से ड्यूटी के लिए जा रहा था तभी अचानक नैनीताल रोड पर बृजलाल हॉस्पिटल के पास 1100 केवी वोल्टेज की हाईटेंशन लाइन का तार टूटकर उसके ऊपर गिर गया जिसके चलते वह बुरी तरह झुलस गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
इस हादसे के बाद बिजली विभाग की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है। प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि हादसे के तकरीबन आधे घंटे बाद इलाके की बिजली सप्लाई बंद हुई।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इधर, मृतक के परिजनों ने उसकी पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग की है। जवाहर ज्योति दमुवाढुंगा निवासी 31 वर्षीय कमल रावत पुत्र मदन रावत मंगल पड़ाव स्थित एक नर्सिंग होम में काम करता था।

परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल


जानकरी के अनुसार शुक्रवार सुबह वह रोज की तरह साइकिल से काम पर जा रहा था। इसी दौरान करीब 9 बजे के आसपास बृजलाल अस्पताल के पास 1100 केवी का हाईटेंशन तार टूटकर कमल के ऊपर गिर गया, चलती लाइन की चपेट में आकर कमल बुरी तरह झुलस गया और देखते ही देखते धूं-धूं कर जलने लगा। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार करीब आधा घंटे तक कमल इसी हालत में पड़ा रहा और उसकी मौत हो गई। हादसे की सूचना से मृतक कमल के परिवार में कोहराम मच गया। कमल की पत्नी और दोनों बच्चों सहित अन्य परिजनों की आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। मृतक के पिता मदन रावत रोडवेज के रिटायर्ड कर्मचारी बताए गए हैं।

बिजली विभाग की लापरवाही

घटनास्थल से गुजर रहे ललित नामक युवक ने बास के डंडे के सहारे मृतक युवक को बचाने की काफी कोशिश की परंतु वह उसे बचा नहीं पाया। घटना के बाद से जहां मृतक युवक के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है वहीं स्थानीय लोगों में बिजली विभाग के खिलाफ खासा आक्रोश है। लोगों का कहना है कि यह बिजली का तार पिछले कई दिनों से झूल रहा था, जिसकी सूचना विभाग के अधिकारियों को भी दी गई थी। बावजूद इसके बिजली विभाग के अधिकारियों ने इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया। जिसका खामियाजा आज एक युवक को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी।
वहीं ऊर्जा विभाग द्वारा पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद का आश्वासन भी दिया है। मृतक कमल रावत के बड़े भाई नरेंद्र सिंह रावत ने ऊर्जा निगम के सहायक अभियंता को एक शिकायती पत्र लिखकर लापरवाही का आरोप लगाया है। वहीं नरेंद्र ने सभी आरोपी अफसरों और कर्मचारियों पर कार्यवाही के ऊपर कार्यवाही करने के साथ ही कमल की पत्नी को स्थाई नौकरी और आर्थिक मुआवजा देने की मांग भी की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.