उत्तराखंड में 9 मरे हुए साइबेरियन पक्षियों को छोड़कर भागा संदिग्ध सिमा बॉर्डर पर

खबरे जंगल प्रकृति मौसम शहर सीमा

पड़ोसी राज्य उत्तराखंड में भी बर्ड फ्लू का मा”मला सामने आने के बाद बर्ड फ्लू का ख”त”रा मं”ड”रा रहा है। दूसरी ओर, प्रवासी पक्षी जीवन के लिए ख”त”रा बन गए हैं। जलीय क्षेत्रों में सक्रिय शि”का”री” वन विभाग और प्रशा”स”न के लिए एक चु”नौ”ती बने हुए हैं। इन दिनों साइबेरियन परिंदे उत्तराखंड प्रवास के लिए आए हैं। बैराज क्षेत्र उनके ट्वीट से गुलजार हैं, लेकिन ये क्षेत्र प्रवासी दलों के लिए सु”र”क्षि”त” नहीं हैं। शि”का”री” प्रवासी पक्षियों का शि”का”र”’ कर रहे हैं। ताजा मा”म’ला” उधमसिंहनगर जिले के खटीमा का है, जहां वन विभाग और एसएसबी के जवानों की एक संयुक्त टीम ने मेल”घा”ट इलाके के कट्टा से 9 मृत सा”इ”बे”रियन पक्षियों को बरा”म”द” किया। टीम को मृ”त” पक्षी मिले, लेकिन शि”का”री”’ ने स्प”र्श” नहीं किया। बताया जा रहा है कि एसएसबी जवानों को देखकर आ”रो”पी” शिकारी नदी में कूद गया और नेपाल की ओर भाग गया। वन विभाग ने अज्ञा’त’ के खिलाफ मा”म”ला” द”र्ज” कराया है।

घ”’ट”’ना”’ शुक्रवार की है। वन क”र्मी” और एसएसबी के ज”वा”न” सीमा क्षेत्र में ग”श्त”’ कर रहे थे। इस बीच सूचना मिली की 22 पुल के रास्ते साइबेरियन पक्षियों का शि”का”र” कर ले जाया जा रहा है। सू”च”ना मिलते ही टीम ने घे”रा”बं”दी शुरू कर दी। इस दौरान  एक आदमी प्लास्टिक का कट्टा ला”दकर नेपाल की तरफ से आता दिखाई दिया। टीम को देख उसने कट्टा फें”क दिया और नदी में छलांग लगा दी। आरोपी नेपाल की तरफ भा”ग” नि”क”ला”। तला”शी” लेने पर कट्टे से 9 मृत साइ”बे”रि”य”न पक्षी मिले। आपको बता दें कि सर्दी के मौसम में बड़ी संख्या में प्रवासी परिंदे शा”र”दा” सागर और नानक सागर डैम पहुंच रहे हैं। यहां इनके ”शि”का”’र” की ”घ”ट””ना””एं” ‘लगा”ता’र” सामने आ रही हैं। एक हफ्ते पहले गूलरभोज में भी शि”का”’री” ‘के पास से 12 मृ”त”’ प्रवासी पक्षी मिले थे। अब ऐसी ही ”घ”ट”ना” खटी”मा” में सामने आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.