गढ़वाल के विकास सेमवाल ने नौकरी के लिए गांव छोड़ा छोड़ा था अपना , आज जापान में हैं खुद के 4 रेस्टोरेंट

खबरे पर्यटन शहर

किसी ने सच कहा है, जितना कठिन संघर्ष होगा, जीत उतनी ही बड़ी होगी। इस रेखा को नई टिहरी में रहने वाले विकास सेमवाल से बेहतर कौन समझ सकता है। विकास उन लोगों में से हैं जिन्हें रोजगार के लिए अपना गाँव छोड़ना पड़ा। आज पहाड़ का यह युवा जापान में उत्तराखंड का परचम लहरा रहा है। विकास जापान के ओसाका शहर में JGKP नामक एक रेस्तरां श्रृंखला संचालित करता है। जब आप इस JGKP के पूर्ण रूप को जानते हैं, तो आप भी विकास सोच पर गर्व करेंगे। JGKP का मतलब है जय गुरु कैलापीर। इस तरह, विकास ने काम की तलाश में पहाड़ छोड़ दिया, लेकिन वह पहाड़ का एक हिस्सा अपने साथ ले गया, जिसे वह आज भी जी रहा है। विकास, जो जापान में रेस्तरां संचालित करता है, न केवल खुद को बुलंद ऊंचाइयों पर ले गया, बल्कि अपने क्षेत्र में कई युवाओं को रोजगार से जोड़ा। विकास सेमवाल मूल रूप से एक वृद्ध क्षेत्र से हैं। उनके पास जापान में पांच रेस्तरां हैं। जिनमें से एक स्वयं द्वारा चलाया जाता है, जबकि 4 रेस्तरां दूसरों द्वारा चलाए जाते हैं। विकास के लिए हमेशा एक प्रयास होता है कि पहाड़ के लोगों को उनकी जगह पर काम दिया जाए।

उन्होंने 10 स्थानीय निवासियों को जापान में रोजगार भी उपलब्ध कराया है। 42 साल के विकास ने उच्च शिक्षा हासिल की है। उन्होंने साल 2009 में मेरठ से कंप्यूटर साइंस से बीटेक किया। बाद में वो जापान चले गए और वहां एक कंसल्टेंसी में बतौर कंप्यूटर इंजीनियर जॉब करने लगे। इसी बीच 2011 में वैश्विक मंदी का दौर शुरू हुआ। विकास की जॉब चली गई, लेकिन उन्होंने मुसीबत के वक्त में हिम्मत नहीं हारी और जापान में ही रोजगार शुरू करने की ठानी। साल 2013 में उन्होंने पहला रेस्टोरेंट खोला।

 

अगले ही साल वो अपने परिवार को भी जापान ले गए। रेस्टोरेंट के नाम को लेकर विकास कहते हैं कि हमारे क्षेत्र के लोगों की गुरु कैलापीर देवता में अटूट श्रद्धा है। नौकरी छूटने के बाद उन्होंने अपने आराध्य देव को याद किया और भगवान का नाम लेकर काम शुरू कर दिया। आज विकास की गिनती जापान के सफल कारोबारियों में होती है। जापान में रहने के बावजूद विकास पहाड़ से जुड़े हुए हैं, साथ ही वो क्षेत्र के लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए भी प्रयासरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.