देहरादून में शादी की खुशियों में पसरा खौफ.. कोरोना पॉजिटिव हुए दूल्हा-दुल्हन और 9 लोग , 2 की हुई मौत

खबरे शहर

ऐसा मौका जो ज्यादातर लोगों की जिंदगी में एक ही बार आता है। मार्च में जब कोरोना और लॉकडाउन की एंट्री हुई तो कई जोड़ों को दिल पर पत्थर रखकर शादी टालने का फैसला लेना पड़ा। कई जगह तो शादी के ऐन मौके पर दूल्हे की रि”पो”’र्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई। दूल्हा-दुल्हन को शादी के बाद ह’नी”मू”न पर जाने की बजाय आइसोलेशन में रहना पड़ा। अब ऐसी ही एक घ”ट”ना” देहरादून में सामने आई है। यहां शादी के बाद नव विवाहित दंपति हनीमून पर निकलने वाले थे। स्टेट से बाहर जाने से पहले दोनों ने कोरोना का टे”स्ट” कराया, जिसकी रिपोर्ट पॉ”जि”टि’व’ आ गई। अब ना सिर्फ दूल्हा-दुल्हन बल्कि शादी में शामिल हुए करीब सौ मेहमान भी परे”शा”न हैं। इनमें से 58 लोगों को स्वास्थ्य विभाग ने ट्रेस कर लिया है। अब तक दूल्हा-दुल्हन समेत 9 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। कोरोना काल में जैसे-तैसे लोगों ने कई महीनों तक शादियां टाली, लेकिन अब जगह-जगह शादियां होने लगी हैं। मेहमान भी खूब पहुंच रहे हैं। पिछले दिनों 20 नवंबर को राजधानी देहरादून में भी एक शादी हुई। यहां माजरा स्थित एक होटल में सैन्य अधिकारी की बेटी की शादी का समारोह आयोजित हुआ था। विवाह संपन्न होने के बाद दूल्हा और दुल्हन हनीमून पर निकलने वाले थे। एहतियातन दोनों ने अपना कोविड-19 टेस्ट करवाया, जिसमें वो पॉजिटिव पाए गए।

इन दोनों के ताज के सकारात्मक होने की सूचना के बाद भलाई कार्यालय ने व्यवसाय की देखभाल की। एंडेवर ने उन व्यक्तियों का पालन करना शुरू कर दिया था जो हिचकोले खाते थे। अवलोकन समूह ने शादी की सेवा में जाने वाले आगंतुकों की खोज के लिए निर्धारित किया। एक तरह से या किसी अन्य द्वारा समूह 58 आगंतुकों का पालन करने के लिए कैसे पता लगा। अब तक शादी में गए 9 व्यक्तियों को सकारात्मक मुकुट की खोज की गई है। जिसमें बहन, चाची और दो चाचाओं के रूप में घंटे की माँ का आदमी शामिल है।

इसमें यह चिंता शामिल है कि शादी में गए दो व्यक्ति गुजर चुके हैं। यह बताया जा रहा है कि शादी में जाने के लिए कुछ आगंतुक अतिरिक्त रूप से गुजरात से आए थे। ऐसी परिस्थिति में, बीमारी कैसे फैलती है, इसके बारे में कुछ भी जानना मुश्किल है। इसके बावजूद, समारोह में जाने वाले दर्शकों तक पहुंचने के साथ स्वास्थ्य विभाग समूह का कब्जा है। यह केवल एक जानकारी नहीं है, इसके अतिरिक्त एक व्यायाम भी है। बंद मौके पर सतर्क रहें कि आप किसी शादी समारोह में भी जाएंगे। सामाजिक निष्कासन और दिशानिर्देशों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.