नैनीताल: पुलिस ने मंगोली क्षेत्र से दो युवकों को 5.5 स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है।

खबरे शहर

नैनीताल, जेएनएन : कोरोना संक्रमण और पुलिस की सख्ती के बावजूद शहर में नशे का कारोबार बढ़ रहा है। कोतवाली पुलिस ने मंगोली क्षेत्र से दो युवकों को 5.5 स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।


शराब से राजस्व कमाने की होड़

राज्य में शराब का नशा सरकारों की राजस्व कमाने की होड़ के कारण तेजी से फैल रहा है. हर वर्ष प्रदेश सरकार द्वारा इससे प्राप्त किए जाने वाले राजस्व के लक्ष्य को बढ़ाने का दबाव जिला प्रशासन पर रहता है.

यह दबाव सरकार की ओर से इतना ज्यादा है कि उत्तराखण्ड के जिन सुदूर क्षेत्रों में बच्चों के पढ़ने के लिए प्राथमिक विद्यालय व लोगों के बीमार पढ़ने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तक नहीं हैं, वहॉ प्रदेश की अब तक की सरकारों ने अपनी प्रशासनिक ताकत शराब पहुँचाने में लगाई है. पिछले कुछ वर्षों में तो जब लोगों ने सुदूर गॉवों में शराब की दुकानें खोलने का विरोध किया तो जिला प्रशासन ने ऐसे स्थानों में चलती – फिरती गाड़ियों ( मोबाइल वैन ) से तक शराब बेची है. एक ओर सरकारें उत्तराखण्ड को हर बात में ” देवभूमि ” कहलाते हुए इतराती हैं, वहीं दूसरी ओर उत्तराखण्ड को शराब के नशे में डूबो देने को अपनी पूरी ताकत भी लगा रही हैं. उसका ध्यान लोगों के स्वास्थ्य व शिक्षा की बजाय उन्हें शराब परोसने पर ज्यादा है.

दोनों युवकों को पकड़ा गया

जानकारी के मुताबिक रविवार शाम कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि एक पल्सर बाइक से दो युवक स्मैक लेकर कालाढूंगी से नैनीताल की ओर आ रहे है। सूचना के बाद एएसआई सत्येंद्र गंगोला मंगोली की तरफ रवाना हो गए। जहां चौकी प्रभारी नरेंद्र कुमार की अगुआई में पुलिसकर्मियों ने वाहन चैकिंग शुरू कर दी। थोड़ी ही देर में एक पल्सर बाइक पर दो युवक आते हुए दिखे। पुलिस को देख युवकों ने बाइक की गति तेज कर दी। पुलिसकर्मियों ने पीछा कर दोनों को दबोच लिया।
पूछताछ और तलाशी लेने पर युवकों के पास 5.5 ग्राम स्मैक बरामद हुई। एएसआई सत्येंद्र गंगोला ने बताया कि चीना हाउस कंपाउंड मल्लीताल निवासी निखिल साह पुत्र जीवन साह एटीआई मल्लीताल निवासी हितेश कुमार पुत्र प्रकाश चंद्र के खिलाफ एनडीपीएस की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। दोनों को न्यायालय भेजने की तैयारी की जा रही है।
पुलिस क मुताबिक पकड़ी गई स्मैक की कीमत अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में एक करोड़ रुपये बतायी गई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सभी पकड़े गए तस्कर उत्तराखण्ड के रहने वाले हैं। पुलिस यह मानकर चल रही है कि इन तस्करों के तार किसी बड़े गिरोह से जुड़े हो सकते की माने तो इनके तार किसी बड़े गिरोह से जुड़े हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.