हाई’टेक अंडरपास: देहरादून में ट्रैफिक से मिलेगी राहत, .रक्षा’मंत्री करेंगे शिलान्यास

खबरे राजनीती शहर

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 28 सितंबर को आईएमए देहरादून में बनने वाली दो टनल का वर्चुअल शिलान्यास करेंगे। यह शिलान्यास आईएमए में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की उपस्थिति में अपराह्न 3.30 बजे होगा। इस संबंध में शनिवार को मुख्यमंत्री आवास में आईएमए कमांडेंट ले जनरल जेएस नेगी ने मुख्यमंत्री से भेंट की।


भारतीय सैन्य अकादमी के बीच से गुजरने वाले चकराता मार्ग (एनएच-72) पर जाम की समस्या अब नहीं होगी। तकरीबन चालीस सालों से बरकरार यह दिक्कत दूर होने जा रही है। रक्षा मंत्रालय ने आइएमए के उत्तरी, दक्षिण और मध्य परिसर को जोड़ने के लिए दो अंडरपास (भूमिगत मार्ग) के निर्माण को 45 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान कर दी है। सोमवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इसका वर्चुअल शिलान्यास करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद रहेंगे।

लोगो की दिक्कतें होगी कम


भारतीय सैन्य अकादमी के बीच से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर अंडरपास बनाने का मामला लंबे समय से लंबित था। पूर्व में भी कई बार इस दिशा में कदम उठाए गए और डीपीआर भी तैयार की गई थी। हर बार मामला सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय व रक्षा मंत्रालय के बीच लटकता रहा। अंडरपास नहीं बनने से स्थानीय लोगों को दिक्कत उठानी पड़ती है। कारण यह कि आइएमए में सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले कैडेट जितनी दफा एक परिसर से दूसरे परिसर में आवागमन करते हैं, उतनी बार यातायात रोक दिया जाता है।
साल में दो बार यानी जून और दिसंबर में होने वाली पासिंग आउट परेड के दौरान तो सप्ताहभर से अधिक समय तक इस मार्ग से गुजरने वाले आमजन की मुसीबतें और बढ़ जाती हैं। रोजाना सुबह व शाम को चकराता मार्ग से गुजरने वाले यातायात को अन्य मार्गों से डायवर्ट कर दिया जाता है। अंडरपास बनने के बाद अब जनता को इस समस्या से दो-चार नहीं होना पड़ेगा।

ट्रैफिक से मिलेगी राहत


अंडरपास के निर्माण से एकेडमी की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता होगी और इसके अलावा सबसे खास बात यह कि हाईवे पर ट्रैफिक का लोड कम होगा। आपको बताते हैं कि आई एम ए में हर साल 2 बार पासिंग आउट परेड होती है और इस दौरान हाइवे को बंद करना पड़ता है। ऐसे में इस सड़क से होकर जाने वाले हाईवे के बंद होने से देहरादून से हिमाचल पंजाब जम्मू-कश्मीर और हरियाणा राज्य को जाने वाले लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। माना जा रहा है कि अंडरपास बन जाने से लोगों को राहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.