उत्तराखंड के इस जिले में लगा 48 घंटे का लॉकडाउन , रहेंगे सभी प्रतिष्ठान बंद..डर मंडरा रहा है कोरोना का

खबरे शहर

वैक्सीन के आते ही लोगों के बीच में राहत है कि अब कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई जल्द ही खत्म होगी और सब कुछ वापस से नॉर्मल हो जाएगा। मगर इसी बीच कैलिफोर्निया से बुरी खबर सामने आ रही है। अमेरिका की फाइजर और जर्मनी की बायोएनटैक दवा निर्माता कंपनी की तरफ से तैयार की गई फाइजर की कोरोना वैक्सीन को ब्रिटेन अमेरिका समेत दुनिया भर के कई बड़े देशों ने आपातकाल में मंजूरी दे दी है और बड़ी तादात में इसका वैक्सीनेशन भी करवाया जा रहा है। मगर इसी बीच एक बेहद चौंका देने वाली खबर अमेरिका के कैलिफोर्निया से सामने आई है। कैलिफोर्निया के एक 42 वर्षीय स्वास्थ्यकर्मी फाइजर वैक्सीन लेने के बाद हफ्ते भर के बाद कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। जी हां जिस वैक्सीन का तकरीबन साल भर से इंतजार हो रहा था अब उस पर भी कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। कई लोग कह रहे हैं कि वैक्सीन कारागर नहीं है तो कइयों को वैक्सीन लगाने के बाद साइड इफेक्ट्स भी हुए हैं।

वर्तमान में यह परिचर के टीकाकरण के बाद भी कैलिफोर्निया में सकारात्मक खोज करने के लिए जोर दे रहा है। कैलिफोर्निया के रहने वाले मैथ्यू डब्ल्यू।, जिन्होंने दो विभिन्न पास के आपातकालीन क्लीनिकों में एक चिकित्सा कार्यवाहक के रूप में कार्य किया, 18 दिसंबर को फाइजर एंटीबॉडी के माध्यम से चले गए। उन्होंने कहा कि 1 दिन के लिए उनकी बाहों में पीड़ा थी, फिर भी कोई परिणाम नहीं निकला। जैसा कि रिपोर्टों से संकेत मिलता है, क्रिसमस के दिन 6 दिनों के बाद, वह बीमार हो गया और थकान महसूस करने लगा। अगले दिन वह एक कोविद परीक्षण से गुजरे, जो सकारात्मक रहा। एंटीबॉडी के बाद ताज के साथ छेड़छाड़ होने से कई मुद्दे सामने आते हैं। इसके साथ ही, कई जिज्ञासाओं को रोकते हुए, अमेरिका के अपरिवर्तनीय बीमारी विशेषज्ञ रेमर्स ने कहा है कि एंटीबॉडी लगाने के 10 से 14 दिनों के बाद शरीर में प्रोटीन बनता है। पहले भाग में, लगभग 50% और दूसरे में 95 प्रतिशत विरोध पैदा करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.