जब शादी के मंडप में बैठा दूल्हा को”रो”ना पॉ’जि’टि’व

खबरे शहर

सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी और लापरवाही के चलते प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। इन दिनों अगर आप किसी विवाह समारोह में जाने की सोच रहे हैं, तो ऐसा करने से पहले ये खबर जरूर पढ़ लें। पिथौरागढ़ में जो हुआ, वो जानने के बाद आप किसी शादी समारोह में शिरकत करने से पहले कई बार सोचेंगे। सोचना भी चाहिए, क्योंकि सवाल आपकी सुरक्षा का है। सीमांत जिले पिथौरागढ़ में मंडप में बैठा दूल्हा कोरोना पॉजिटिव मिला। जिस वक्त दूल्हे के कोरोना संक्रमित होने की सूचना मिली। उस वक्त वो मंडप में बैठा था, फेरों की तैयारी थी। जैसे ही दूल्हे के कोरोना संक्रमित होने की खबर मिली, मौके पर हड़कंप मच गया। जब तक एहतियात संबंधी इंतजाम किए जाते तब तक दूल्हा अपनी दुल्हन को लेकर घर पहुंच चुका था। इस तरह सात फेरे लेने के बाद दूल्हे को होम आइसोलेट कर दिया गया

प्रकरण जाख पुराण क्षेत्र से है जो आधार बेस कैंप है। यहां चांडक शहर में एक शादी हुई थी। घंटे का आदमी एक शहर में एक जिम्मेदारी का ख्याल रखता है। शादी 25 नवंबर को थी। उसके बाद पति को 22 नवंबर को शहर से अपने शहर वापस जाना पड़ा। यहां चंपावत लोकल के टनकपुर में इसका परीक्षण किया गया। उदाहरण देने के मद्देनजर, भाग्यशाली व्यक्ति अपने शहर में पहुंचे। बुधवार को, वह शादी परेड के साथ घंटे के घर की महिला पर पहुंचे। उस बिंदु पर पति की रिपोर्ट अतिरिक्त रूप से रात में अनुसूची के पीछे पहुंच गई।

जो कि सकारात्मक था। पति को दूषित होने के बाद संगठन को मिश्रित किया गया था। फिर, सात को लेने के मद्देनजर घंटे का आदमी महिला के साथ घर पर आया। उस बिंदु पर संगठन समूह मौके पर पहुंचे और भाग्यशाली आदमी को घर से निकाल दिया। जब से पति को कोरोना सकारात्मक होने के लिए जिम्मेदार ठहराया गया था, परेड से जुड़े लोगों की उत्सुकता का विस्तार हुआ है। बहरहाल, परेड से जुड़े सभी व्यक्तियों से उदाहरण लिए गए हैं। रिपोर्ट आने तक उन्हें आत्म-पृथक रहने के लिए कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.