अपनी बहन को यूपीएससी की तैयारी कराने के लिए छोड़ी भाई ने लाखों की कोचिंग, अब घर में है दो आईएएस अफसर

समाचार समाज

इस बात से तो आप सभी अवगत होंगे कि हर वर्ष लाखों की संख्या में नौजवान युवक युक्तियां यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करते हैं और पेपर के लिए आवेदन कर रहे हैं लेकिन उनमें से कुछ भी बच्चे आते हैं की इस कठिन पेपर को निकाल पाते हैं और बन जाते हैं आईएएस ऑफिसर्स। कई लोग तो सिविल सर्विसेज की परीक्षा के लिए अपनी अच्छी जॉब और बिजनेस भी छोड़कर परीक्षा की तैयारी में लग जाते हैं। डॉक्टर, इंजीनियर और भी कई अच्छे प्रोफेशनल लोग भी यह परीक्षा देते हैं।

इन्हीं में से एक लड़की अर्तिका (IAS Artika Shukla) भी हैं, जिन्होंने MBBS और MD करने के बाद सिविल सेवा में जाने का निश्चय किया और सफल भी हुईं। उनके बारे में ख़ास बात तो यह है कि उन्होंने इस एग्जाम को क्रैक करने के लिए 14 या 16 घंटों तक पढ़ाई करने के बजाय अपनी स्ट्रेटजी बनाकर पढ़ाई की और बिना कोचिंग के ही इस परीक्षा को पास किया। आज हम जानेंगे कि अर्तिका ने डॉक्टर से IAS ऑफिसर बनने तक की यात्रा कैसे तय की और साथ ही जानेंगे UPSC एग्जाम में उनकी सक्सेस के कुछ सीक्रेट टिप्स…

स्कूल और कॉलेज में टॉपर थीं IAS Artika Shukla

काशी में रहने वाली अर्तिका शुक्ला (Ias Artika Shukla) शुरू से ही पढ़ने में बहुत अच्छी थी। पढ़ाई में हमेशा से अव्वल आती थीं। स्कूल टाइम से लेकर कॉलेज टाइम में वह टॉपर ही रहती थीं। परंतु अर्तिका शुक्ला का मानना है कि आप चाहे कितने भी अच्छे स्टूडेंट क्यों ना रहे हो लेकिन यूपीएससी की परीक्षा (UPSC Exam) सभी उम्मीदवारों के लिए मुश्किल ही रहती है। इस परीक्षा की तैयारी के लिए आपका सारा कोर्स नया होता है और आपको शुरू से ही तैयारी करनी होती है।

इनके दोनों भाईयों ने पास की थी UPSC की परीक्षा

अर्तिका (IAS Artika Shukla) बाद में पढ़ाई के लिए दिल्ली चली गईं थीं। इनके परिवार में पिता बृजेश शुक्ला जो एक डॉक्टर हैं, इनकी माँ लीना शुक्ला जो होममेकर हैं और साथ ही इनके दो बड़े भाई गौरव शुक्ला और उत्कर्ष शुक्ला हैं। आपको बता दें कि अर्थिका के दोनों भाई भी यूपीएससी का एग्जाम पास कर चुके हैं। इनके सबसे बड़े भाई गौरव IAS ऑफिसर हैं जिन्होंने वर्ष 2012 में UPSC का एग्जाम पास किया। इनके दूसरे भाई उत्कर्ष ने भी UPSC एग्जाम पास किया और वे IRTS में अफसर हैं।

MD छोड़कर UPSC की तैयारी की

अर्तिका (IAS Artika Shukla) ने सेंट जॉन स्कूल से पढ़ाई की, स्कूल में वे हमेशा अव्वल रहती थीं। फिर उन्होंने मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से MBBS किया। सिर्फ़ इतना ही नहीं MD में भी उनका चयन हुआ था, फिर जब एमडी कर रही थी उस समय उनके बड़े भाई गौरव ने उन्हें यूपीएससी का एग्जाम देने का सुझाव दिया।

अर्तिका ने एमडी बीच में ही रोककर UPSC की तैयारी शुरू कर दी थी, उन्होंने इसके लिए कोचिंग नहीं की लेकिन उनके भाई ने उनकी पढ़ने में काफ़ी सहायता की। अर्तिका हमारे देश के ज़रूरतमंद लोगों की मदद करना चाहती थी, इसलिए उन्होंने सिविल सर्विसेज का एग्जाम देने के बारे में सोचा। अर्तिका पहले ही प्रयास में वर्ष 2015 में AIR 4 th rank से यानी ऑल इंडिया रैंक 04 से सेलेक्ट हुईं।

2014 में शुरू की परीक्षा की तैयारी

अर्तिका (IAS Artika Shukla) ने वर्ष 2014 में यूपीएससी की परीक्षा (UPSC Exam) देने के लिए तैयारी शुरू कर दी थी उन्होंने अपने इंटरव्यू में यह भी बताया कि अगर परीक्षा में सही तरीके से तैयारी की जाए तो 1 वर्ष में ही अच्छी तरह से तैयारी हो जाती है। प्री और मेन्स के लिए भी अर्तिका ने साथ में ही तैयारी करना स्टार्ट कर दिया था।

उन्होंने प्री एग्जाम से पूर्व परी के लिए जिस प्रकार 3 घंटे की पढ़ाई की उसी तरह मेंस के लिए एक ही घंटे की पढ़ाई की। अर्तिका का कहना है कि प्री के एप्टीट्यूट टेस्ट मैं पास होना ज़्यादा कठिन नहीं होता है इसमें कक्षा 10 तक आने वाले गणित और अंग्रेज़ी दे दी विषयों के क्वेश्चंस आते हैं, इसलिए इसमें पास होना आसान रहता है।

UPSC Exam क्रैक करने के लिए अर्तिका के सुझाव

अर्तिका (IAS Artika Shukla) का कहना है कि पेशेंस, फोकस्ड स्टडी, मज़बूत इरादों और सही स्ट्रेटजी के साथ कड़ी मेहनत करके ही इस परीक्षा में सफलता प्राप्त की जा सकती है। अर्तिका यह भी मानती हैं कि दिन में 14 या 16 घंटे पढ़ने की ज़रूरत नहीं है, बल्कि प्लानिंग से और फोकस करके दिन में 4 से 5 घंटे पढ़ना ही बहुत रहता है।

वे बताती हैं कि जनरल एबिलिटी टेस्ट में काफ़ी नॉर्मल से प्रश्न आते हैं। यदि आप कक्षा 12 तक की एनसीईआरटीज़ पढ़ चुके हैं और समसामयिक घटनाओं के बारे में जानकारी रखते हैं तो इस परीक्षा में पास हो सकते हैं। आपको उन टॉपिक्स पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए, जो मेन्स में आते हैं। अगर आपकी अंग्रेज़ी अच्छी नहीं है उसे सुधारें। साइंस टेक्नोलॉजी, एनवायमेंट एंड इकोलॉजी सब्जेक्ट के लिए करेंट अफेयर्स ज़रूर पढ़ें। इसके अलावा रोजाना अख़बार पढ़ने की आदत डालें और प्री से पूर्व 20 से 25 टेस्ट पेपर तो अवश्य हल कर लीजिए।

मेन्स की तैयारी ज़्यादा ज़रूरी है

अर्तिका (IAS Artika Shukla) का कहना है कि UPSC में मेन्स का सिलेबस सागर जैसा अथाह होता है। इसलिए इसकी तैयारी में मुश्किल आती है। अतः यह आवश्यक है कि आप प्री के साथ ही मेन्स की तैयारी भी शुरू कर दीजिए। अच्छे अंक पाने के लिए अपने उत्तरों को सुधारें। जिसमें आप अच्छे हों, उसे ऑप्शनल चुनें। अर्तिका ने मेडिकल साइंस सेलेक्ट किया था और शुरू से लेकर आख़िर तक एक ही अख़बार पढ़ती थीं।

जो सब्जेक्ट एग्जाम में कम वेटेज़ वाले और बड़े व समय लगाने वाले थे, उन्हें अर्तिका ने छोड़ दिया था। SRC और इकोनॉमिक सर्वे काफ़ी ज़रूरी टॉपिक्स हैं। बेसिक मज़बूत बनाने के लिए एनसीईआरटी बुक्स पढ़ना ज़रूरी है और साथ ही अच्छे नम्बर लाने के लिए स्पेस और सैटेलाइट्स जैसे टॉपिक्स की नॉलेज भी रखनी चाहिए।

अर्तिका (IAS Artika Shukla) का कहना है कि टॉपर्स के इंटरव्यू देखिए लेकिन आप अपने हिसाब से ही उनके सुझाव का अनुसरण करें। यह एग्जाम आपके नॉलेज से अधिक आपके निश्चय, आपकी पर्सनेलिटी का टेस्ट होता है। हो सकता है तैयारी के समय आपको घबराहट हो और डिप्रेशन भी हो। लेकिन आप डरे बिना पॉजिटिव रहिए तो आप कामयाब होंगे। यदि मेन्स का कोई पेपर अच्छा न गया हो तो उसे भूलकर अगले पेपर में जी जान से मेहनत करें।

इंटरव्यू के लिए IAS Artika Shukla के टिप्स

वे बताती हैं कि इंटरव्यू में आत्मविश्वास होना बहुत आवश्यक है। यदि आपको पूछा गया कोई उत्तर नहीं आ रहा हो तो आराम से बिना घबराए सॉरी कह दीजिये। इंटरव्यू में आपके नॉलेज का टेस्ट नहीं, बल्कि आपका पर्सनैलिटी टेस्ट होता है, उन्हें पता है कि नॉलेज से ही आप इंटरव्यू तक पहुँचे हैं, तो पर्सनेलिटी डेवलपमेंट करें। यदि आप चाहें तो कुछ मॉक इंटरव्यू भी दे सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.