यह बुजुर्ग व्यक्ति 30 साल से खा रहा है ढाई सौ ग्राम पत्थर जानिए क्या है वजह पत्थर खाने की

समाचार समाज

क्या हो अगर कोई व्यक्ति आपको बोले कि आपको रोज पत्थर खाने को मिलेंगे आप सोच रहे होंगे पत्थर कोई खाने की चीज थोड़ी ना है पर हम आपको बता देते हैं कि एक बुजुर्ग व्यक्ति रोज ढाई सौ ग्राम पत्थर खा रहा है पिछले 30 सालों से आप शायद सपने में भी नहीं सोच सकते पत्थर को आने की, आपको बता दें कि यह मामला तब प्रकाश में आया जब पेट में दर्द होने के कुछ दिन पहले बुजुर्ग को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया और सीटी स्कैन के बाद पता चला कि उसके पेट में पत्थरों का अंबार लगा हुआ है।

आपको बता दें कि इस बाबा का नाम रामभाऊ बोडके है, जिन्हें गांव के लोग प्यार से ‘पत्थर वाले बाबा’ भी बुलाते हैं। जब इस बाबत जानकारी लेने के लिए एक निजी संस्थान ने रामभाऊ बोडके से बात की तो, उन्होंने बताया कि वो 1989 में मुंबई में मजदूरी करने गए थे। वहां पर उनके पेट में अचानक दर्द शुरू हो गया। तीन साल तक उन्होंने मुंबई में इलाज कराया। लेकिन उनकी तकलीफ दूर नहीं हुई। इसके बाद वो सतारा आ गए और खेतीबाड़ी करने लगे। इस दौरान भी रामभाऊ बोडके के पेट का दर्द खत्म नहीं हुआ।

एक दिन खेत में काम करने के दौरान गांव में ही रहने वाली एक बूढ़ी महिला ने उन्हें पत्थर खाने का यह उपाय बताया। जिसके बाद उन्होंने पत्थर खाना शुरू कर दिया। पत्थर खाने से उन्हें आराम भी मिल गया। जिसके बाद से वे हर दिन पत्थर खाते हैं। आपको बता दें कि रामभाऊ बोडके 31 साल से रोज पत्थर खा रहे हैं अब उन्हें इस खाने में मजा आता था। उनकी जेब में हमेशा पत्थर के छोटे-छोटे कंकड़ पड़े रहते हैं, जब उनका मन होता जेब से निकाल कर खा लेते हैं।

आपको बता दें कि रामभाऊ बोडके के रोज 250 ग्राम पत्थर खाने से लोगों के अलावा डॉक्टर भी हैरान हैं, की आखिर कोई व्यक्ति बीते 30 साल से रोज 250 ग्राम पत्थर कैसे खा सकता है। इस बीच रामदास यह भी बताते हैं कि कि पत्थर खाने के बाद उन्हें कोई परेशानी नहीं होती है और अपनी दिनचर्या सामान्य रूप से जीते हैं। शुरुआत में परिवार के लोग इस कारण से चिंतित रहते थे, लेकिन अब उनके लिए भी ये सामान्य बात हो गई।

बता दें कि कुछ दिनों पहले बाबा का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.