इस महिला ने संभाल रखा है दुनिया का सबसे शक्तिशाली युद्धपोत की जिम्मेदारी , छोटे से गांव से निकलकर किया यह कमाल

समाज

आज के आधुनिक दौर में हम महिलाओ को किसी भी क्षेत्र में कम नहीं समझ सकते है हर क्षेत्र में उन्होंने कार्यभार संभाला हुआ है , महिलाये पुरुषो से किसी भी मामले में कम नहीं है। महिलाएं देश दुनिया में नाम रोशन कर रहीं हैं. ऐसा की कारनाम किया है प्रिंयका चौधरी ने जो जिन्होंने भारतीय सेना में शामिल होकर देश की सेवा कर रहीं हैं. उन्हें (commanding officer priyanka chaudhary) दुनिया के सबसे शक्तिशाली जहाजों में शामिल INS विक्रमादित्य की जिम्मेदारी दी गई है. वो देश की पहली ऐसी महिला हैं जिन्हें ये मौका दिया गया है. विक्रमादित्य पोत में वो कमांडेंट ऑफिसर हैं. आइए जानते हैं कैसे उन्होंने ये मुकाम हासिल किया

कौन हैं INS अधिकारी (Priyanka Chaudhary) प्रियंका चौधरी

राजस्थान में अलवर के छोटे से गांव से निकलकर आने वाली प्रियंका चौधरी समुद्र की ऊंची लहरों के बीच दुश्मनों को धूल चटा देने का दम रखती हैं. प्रियंका की शुरुआती पढ़ाई रामपुर गांव में हुआ था. उनके पिता बलबीर सिंह चौधरी सेल्स टैक्स विभाग में अधिकारी थें. हाल ही में वो अपने पद से सेवानिवृत्ति हुए हैं. प्रियंका की मां एक गृहणी हैं. 3 बहनों और 1 भाई के बीच प्रियंका उम्र में सबसे बड़ी हैं.

घर में बड़ी होने की वजह से उनके ऊपर जिम्मेदारियां भी बहुत थीं. पिता बलबीर चौधरी बतातें हैं कि प्रियंका का बचपन से ही सेना में सेवा देने की इच्छा थी. शुरुआती पढ़ाई गांव से करने के बाद उन्होंने जयपुर के महारानी कॉलेज से पढ़ाई की थी. ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के बाद उन्होंने सेना में जाने के लिए तैयारी शुरू कर दी. पढ़ाई लिखाई में अच्छा होने के कारण नौसेना में उनका सिलेक्शन हो गया.

एक सॉफ्टवेयर कंपनी में आईटी सलाहकार हैं प्रियंका के पति
नौसेना में सिलेक्ट होने के बाद उनका राजस्थान के भरतपुर के जघीना में शादी कर दी. उनके पति एक सॉफ्टवेयर कंपनी में आईटी सलाहकार हैं. पत्नी की इस सफलता से उनके ससुराल के सभी लोग काफी खुश हैं.

उनके पति का कहना है कि फिलहाल वो विश्व के सबसे शक्तिशाली युद्धपोतो में शामिल विक्रमादित्य पोत में कमांडेंट ऑफिसर हैं. जहाज परमाणु हमले करने में सक्षम है. इतने बड़े जहाज को संभालने के जिम्मेदारी अपने आप में गर्व की बात है. बता दें कि प्रियंका चौधरी देश (priyanka chaudhary) की पहली ऐसी महिला ऑफिसर बनी है जिन्हें विक्रमादित्य पोत (INS Officer) पर 180 नौसेनिकों के ऊपर पद पर रखा गया है. 6 जुलाई 2009 को उनकी भारतीय नौसेना में लेफ्टिनेंट पद पर नियुक्ति हुई थी। नौकरी के दौरान उनकी काबिलियत और मेहनत को देखते हुए उन्हें 3 बार पदोन्नति किया गया.

परेड में राष्ट्रपति को दिया गार्ड ऑफ ऑनर
प्रियंका चौधरी को उनके सेना में सेवा की वजह से कई अलग-अलग जिम्मेदारियां निर्वहन करने का मौका भी दिया गया है. वो पोत में कमांडिंग ऑफिसर के अलावा गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में परेड कमांडर, फायरिंग अकाउंट की अतिरिक्त जिम्मेदारी भी दी गईं हैं. अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के गणतंत्र दिवस में शामिल होने के अवसर पर उन्होंने महिला टुकड़ी में हिस्सा लेकर राष्ट्रपति को गार्ड ऑफ ऑनर दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.