एक बन्दर ने लिया कुत्ते के बच्चे को गोद दी इंसानियत को एक मिसाल

समाज

जब हमें ग़ुस्सा आता है , या इंसान कोई अजीब कार्य करता है तो हम लोग उसे जानवर बोल देते है उसकी तुलना एक जानवर से कर देते है। पर यह गलत है बोलना क्युकी आज के जमाने में जानवरो में ज्यादा इंसानियत है , वह एक इंसान को बेहतर समझते है।

यह घटना दक्षिण भारत की है जहाँ पर एक बंदर एक कुत्ते के बच्चे को बचाने के लिए पूरे प्रयत्न करता दिखाई देता है। इंसान भले ही एक दूसरे के दुश्मन बन जाए लेकिन अक्सर जानवर सिर्फ़ अपनी प्रजाति के ही नहीं बल्कि दूसरी प्रजाति के जानवरों के बच्चों से भी प्यार करते दिखाई देते हैं। यह घटना आपको हैरान अवश्य करेगी क्योंकि कुत्तों को तो हमने बंदरों के पीछे भोंकते हुए देखा है लेकिन किसी बंदर को कुत्ते के बच्चे को पालते हुए नहीं देखा।

बन्दर ने कुत्ते के बच्चे को गोद ले लिया और उसकी रक्षा भी की
बंदर द्वारा किया गया यह कार्य आश्चर्यजनक ही था। दरअसल एक रीसस मकाक प्रजाति के बंदर ने जब सड़क पर घूमते एक छोटे से कुत्ते के बच्चे को अकेला पाया तो उसने जल्दी से उसे माँ की तरह अपनाकर उसे प्यार से अपने साथ रखा। मानो उस बंदर ने उसे गोद ले लिया हो। इतना ही नहीं वह बंदर कुछ छोटे कुत्ते के बच्चे की रक्षा के लिए दूसरे आवारा कुत्तों से भी लड़ रहा था। इसलिए उस बंदर को देखकर कोई जानवर उस छोटे कुत्ते को परेशान करने नहीं आ पाया।

लोग यह दृश्य देखकर हैरान हो गए
यह अनोखा दृश्य सबके मन में कौतूहल पैदा कर रहा था कि एक बंदर का एक कुत्ते के बच्चे के प्रति इतना प्रेम कैसे हो सकता है। उस बंदर और छोटे कुत्ते का स्नेह माँ और बच्चे जैसा ही था। जिसने भी यह दृश्य देखा वह भाव विभोर हो गया। फिर वहाँ के लोगों ने जब बंदर और कुत्ते के बच्चे के लिए भोजन रखा तो सभी यह देखकर आश्चर्य में पड़ गए कि बंदर ने पहले कुत्ते के बच्चे को ही खाना दिया और बाद में उसने खाया।

इनकी सुंदर तस्वीरें फ़ेसबुक पर भी शेयर की गई
वहाँ से जो भी गुजर रहा था इस दृश्य को देखकर मोहित हो वहीं ठहर जाता था। सभी ने इस घटना की कई तस्वीरें ली और संजय पांडेय नाम के एक शख़्स ने इन्हें फ़ेसबुक पर भी शेयर किया। अब तक इन तस्वीरों को 170, 000 बार देखा जा चुका है।

यह घटना मनुष्यों को मानवता का पाठ पढ़ाती है, जहाँ एक और इंसान, इंसानों के ही बच्चों को प्यार नहीं दे पाते हैं वहीं एक जानवर का दूसरी प्रजाति के जानवर के प्रति इतना लगाव, दयाभाव और उसका निस्वार्थ प्रेम सभी को अच्छी सीख देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.