एक महिला IPS अधिकारी ने किया गरीब बच्चो को UPSC परीक्षा के लिए पढ़ने का कार्य हर संडे लेती है १०० बच्चो की क्लास

समाज

अक्सर लोग अपनी छोटी ज़िन्दगी से निकलकर जब किसी बढे औदे पर पहुंचते है तो वो अपनी भूल जाते है जो हजारो लोग जी रहे होते है मुशिकल भरी ज़िन्दगी। पर कुछ लोग ऐसे भी होते है जो अपनी ज़िन्दगी में बढ़ा मुकाम हासिल करने के बाद जमीन से जुड़े होते है और अपने आस पास के लोगो की मदद करने के लिए तैयार रहते है। और यही लोग देश का नाम रोशन करते है हम बात कर रहे है IPS अंकिता शर्मा (IPS Ankita Sharma). दरअसल UPSC की परीक्षा पास करना आसान नहीं होता है, जिन्होंने इस एग्जाम को पास किया है, जब हम उनके बारे में पढ़ते हैं तो हमें पता चलता है कि उन सभी ने अनेक प्रकार की समस्याओं से जूझ कर, बहुत संघर्षों के बाद यह पहचान पाई है। परंतु इस परीक्षा को पास करना मात्र ही उनका लक्ष्य नहीं होता है बल्कि लोगों की मदद करके उनकी ज़िन्दगी संवारना इनके जीवन का ध्येय होता है।

ऐसी ही एक महिला IPS अधिकारी हैं अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) , जो हर सन्डे को अपने कार्यालय में 100 छात्रों को UPSC की तैयारी करवाया करती हैं। उनके इस नेक काम से यूपीएससी एग्जाम (UPSCExam) की तैयारी कर रहे बहुत सारे प्रतिभागियों को फायदा मिल रहा है।

छत्तीसगढ़ की पहली महिला IPS हैं अंकिता शर्मा (IPS Ankita Sharma)
IPS अंकिता शर्मा (IPS Ankita Sharma) छत्तीसगढ के दुर्ग शहर की निवासी हैं। वे छत्तीसगढ़ कैडर की आईपीएस (IPS) हैं। ख़ास बात तो यह है कि उनको छत्तीसगढ़ की पहली महिला IPS अफसर बनने का खिताब मिला। अंकिता जी ने वर्ष 2018 में अपने तीसरे प्रयास में UPSC एग्जाम को 203 वी रैंक से क्रैक किया था। अभी वे छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नगर निगम पुलिस अधीक्षक (CSP) की पोस्ट पर आजाद चौक में अपनी सेवाएँ दे रही हैं।

उन्होंने दुर्ग शहर से अपनी ग्रेजुएशन की पूरी की और उसके बाद MBA किया। अंकिता IPS बनना चाहती थी, इसलिए उन्होंने जॉब नहीं की और MBA के बाद UPSC की तैयारी में लग गईं। उन्होंने छह महीनों तक दिल्ली में रहकर यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) की तैयारी की, फिर उसके बाद वह अपने घर आ गयीं और वहाँ पर ही तैयारी की और ख़ूब मेहनत करके इस परीक्षा को पास किया।

कैसे आया UPSC के छात्रों को तैयारी करवाने का ख्याल
IPS Ankita Sharma बताती हैं कि “दूसरे राज्यों की तरह ही छत्तीसगढ़ के स्टूडेंट्स भी सिविल सेवाओं में जाना चाहते हैं लेकिन यहाँ पर ना तो अच्छी कोचिंग इंस्टिट्यूट है और ना उनको ठीक प्रकार से मार्गदर्शन मिलता है। इस परीक्षा की तैयारी के समय मैंने छत्तीसगढ़ के उम्मीदवारों की इस परेशानी को देखा, जाना और समझा था, इसलिए IPS बनने के पश्चात अब मैंने स्टूडेंट्स की इस प्रॉब्लम को ख़त्म करने के लिए यह पहल की है।”

सोशल मीडिया से युवाओं को अपने कोचिंग की सूचना दी
IPS अंकिता शर्मा सोशल मीडिया एक्टिव यूजर हैं और इनके बहुत से फॉलोअर हैं। इन्होंने साल 2020 में नवंबर महीने में अपने सोशल मीडिया अकाउंट से एक पोस्ट साझा की थी, इस पोस्ट में अंकिता ने पहले तो दिवाली की शुभकामनाएँ दी और फिर सभी को यह सूचना भी दी कि अब से वह अपने ऑफिस में हर संडे को यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों के लिए 11: 00 से 1: 00 बजे तक कोचिंग शुरू करने जा रही हैं। उन्होंने अपने एक पोस्ट में ऑफिस का एड्रेस और अपना फ़ोन नंबर भी दिया, ताकि छात्रों से संपर्क कर पाएँ। अंकिता शर्मा की इस पोस्ट को बहुत से लोगों ने लाइक और शेयर किया और यह वायरल हो गई।

PS Ankita Sharma ने जो पोस्ट शेयर की वह कुछ इस तरह थी
“आप सबको दीपावली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ। हमारे द्वारा UPSC की तैयारी कर रहे युवाओं के लिये एक छोटी-सी पहल की शुरुआत की जा रही है। मेरे द्वारा CSP ऑफिस आजाद चौक रायपुर में हर सन्डे को 11: 00 से 1: 00 बजे तक UPSC प्रतिभागियों से मिलने का प्रयास है, जिससे मैं यह कोशिश करूंगी कि ज़्यादा से ज़्यादा बच्चों की मदद कर पाऊँ।

आप अपने संशय और अपडेट हमसे शेयर कर सकते हैं। मुझे UPSC में मार्गदर्शन करने वाला परिवार में कोई नहीं था, जिसके कारण मुझे कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ा था। हमारा प्रयास है कि मेरी एक छोटी-सी कोशिश से आपकी मंज़िल सरल हो जाए और हमारे प्रदेश के बच्चे आगे बढ़ें तो मेरा यह प्रयास सफल हो जाएगा और मैं ख़ुद को खुशनसीब समझूंगी।”

हर संडे को CSP ऑफिस में कराती हैं कोचिंग
IPS अंकिता शर्मा (IPS Ankita Sharma) हर रविवार को आजाद चौक CSP ऑफिस में UPSC की फ्री कोचिंग कक्षा चलाती हैं। उन्होंने बताया कि रविवार के दिन उनकी छुट्टी होती है और अन्य दिनों में उन्हें ड्यूटी पर रहना होता है, इसलिए उन्होंने कोचिंग के लिए संडे का दिन चुना। अंकिता ने सोशल मीडिया पर जो पोस्ट की थी उसे पढ़कर उन्हें बहुत से कैंडिडेट ने कॉल किया और फिर कोचिंग के लिए आने लगे। उनके पास अभी UPSC के 100 कैंडिडेट तैयारी के लिए आते हैं, जिनके लिए उन्होंने ऑफिस में ही कुर्सी वगैरा की पूरी व्यवस्था कर रखी है, ताकि उन्हें पढ़ने में कोई दिक्कत ना आए।

आईपीएस अंकिता शर्मा (IPS Ankita Sharma) बच्चों को कोचिंग देने के साथ ही उन्हें पहले परीक्षा दे चुके अन्य व्यक्तियों से किताबें और नोट्स भी लेकर उपलब्ध करवा रहीं हैं। जिस वक़्त वे IPS बनीं थीं, उस समय वे अपने ही वेतन से दुर्ग के एक होस्टल की करीब 200 छात्राओं को शिक्षा दिलवाती थीं।

परेड का नेतृत्व करने वाली फर्स्ट लेडी पुलिस ऑफिसर हैं IPS Ankita Sharma
गौरतलब है कि अंकिता शर्मा (IPS Ankita Sharma) ने 26 जनवरी 2020 को गणतंत्र दिवस के समारोह में पुलिस परेड ग्राउंड में परेड का नेतृत्व भी किया था। वे गणतंत्र दिवस पर पुलिस परेड की लीडर बनने वाली फर्स्ट लेडी पुलिस ऑफिसर बनीं। आपको बता दें कि अंकिता शर्मा उनके लुक्स और दबंग तरीके से काम करने के लिए बहुत चर्चा में रहती हैं। अंकिता शर्मा द्वारा यूपीएससी छात्रों की मदद के लिए किया गया यह अनूठा काम बहुत सराहनीय है। उनके इस कार्य से समाज के अन्य व्यक्ति भी प्रेरित होंगे और दूसरों की मदद के लिए आगे आएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.