घर में बढ़ेगी ऑक्सीजन की मात्रा किस पौधे को लगाने से बहुत फायदेमंद है कोरोना काल के लिए

समाचार समाज

इस कोरोनावायरस इन महामारी के समय में सभी रहती है ऑक्सीजन के गार्डन कितना परेशान हूं यार बात से तो आप से भी अवगत होंगे। लेकिन क्या आपको पता है दुनिया में कई ऐसे पौधे भी मौजूद है जो कि और पौधों के मुकाबले ऑप्शन देने में ज्यादा फायदेमंद साबित होते हैं तथा के डॉक्टर भी ऐसा सलाह देते हैं कि यदि आप अपने घर के आस-पास के घर के अंदर हरियाली बनाए रखेंगे तो ऑक्सीजन की मात्रा जल्दी से कम नहीं होती और आपका जीवन में आपको कभी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।

देश फिलहाल कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है कि इसी बीच तीसरी लहर की आशंका भी सामने आने लगी. ऐसे में लोग वैक्सिनेशन के अलावा अपनी इम्युनिटी मजबूत (how to boost immunity naturally) करने और सेहतमंद रहने के लिए कई तरीके अपना रहे हैं. इन्हीं में से एक है, घर में ऐसे पौधे लगाना, जिनसे ऑक्सीजन (Oxygen plants) मिले. बता दें कि कोविड-19 के मरीजों में कुछ सबसे गंभीर समस्याओं में से एक है शरीर में ऑक्सीजन की कमी होना. ऐसे में कई विशेषज्ञ इस तरह के इनडोर पौधों का जिक्र कर रहे हैं.

क्यों जरूरी है घर पर पर पौधे होना 

घर के भीतर कई तरह के परागण, धूल और यहां तक कि अच्छे से अच्छा पेंट भी वायु की गुणवत्ता पर असर डालते हैं. ऐसे में घर के भीतर ऐसे पौधे लगाना बढ़िया विकल्प है, जो एयर प्यूरिफायर की तरह काम करते हुए ऑक्सीजन का स्तर बनाए रखते हैं. इस बारे में टाइम्स ऑफ इंडिया ने कृषि मंत्रालय के हॉर्टिकल्चर साइंस के प्रमुख आनंद कुमार सिंह से बात की ताकि ऐसे पौधों के बारे में समझा जा सके. वे बताते हैं कि ऐसे कई पौधे हैं जो घर पर लगाए जाने पर हवा में मिलकर नुकसान देने वाले तत्वों को हटा देते हैं.

विषैले तत्वों को सोख ऑक्सीजन बढ़ाता है ये

रबर प्लांट लगा सकते हैं, जिसे फाइकस रोबस्टा भी कहा जाता है. घर में कहीं भी खुली जगह नहीं या फिर दफ्तर में अपने क्यूबिकल में लगाना चाहें तो रबर प्लांट लगा सकते हैं. देखने में काफी सुंदर और कम जगह घेरने वाला ये पौधा जितना कम रखरखाव मांगता है, उससे कहीं ज्यादा फायदेमंद है. इसमें लकड़ी के फर्नीचर और पेंट से निकलने वाले विषैले तत्वों के साथ-साथ बेंजीन को भी खुद में सोख लेने की खूबी है.

हवा की अशुद्धियां दूर करता है ये पौधा 

एलोवेरा एक बेहतरीन इनडोर प्लांट है जिसे फलने-फूलने के लिए सूरज की रोशनी की खास जरूरत नहीं. औषधीय गुणों के अलावा इसमें हवा को शुद्ध करने की खूबी भी होती है. ये हवा की अशुद्धियों जैसे फार्मल्डिहाइड यानी मेथेनैल और बेंजीन को दूर करता है. कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसे बेहद जहरीले तत्व को भी हटाकर हवा को शुद्ध रखता है. ये घर के बच्चों से लेकर पालतू पशुओं के लिहाज से भी पूरी तरह से सुरक्षित है.

लगभग पूरा दिन ऑक्सीजन देता है ये 

तुलसी के औषधीय गुण तो सभी जानते हैं लेकिन तुलसी पर्यावरण शुद्ध रखने का भी काम करती है. घर के भीतर थोड़ी धूपदार जगह पर तुलसी लगाई जा सकती है और इसे हर 2 से 3 दिन में पानी की भी जरूरत पड़ती है, लिहाजा इसे बालकनी या किसी अपेक्षाकृत खुली जगह पर लगाएं. तुलसी दिन के लगभग 20 घंटों तक ऑक्सीजन देती है, साथ ही ये वायु से जहरीले तत्वों जैसे कार्बन डाईऑक्साइड और सल्फर डाईऑक्साइड को अवशोषित कर लेती है. साल 1987 में तो एक अभियान भी चला था- तुलसी लगाओ, प्रदूषण भगाओ.

स्पाइडर प्लांट है काफी काम का 

स्पाइडर प्लांट लगभग नहीं के बराबर देखरेख मांगता है और काफी फायदेमंद है. इसमें वायु की अशुद्धियां दूर करने की खूबी होती है. ये जाइलीन, बेंजीन, फार्मल्डिहाइड और कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसे विषैले तत्वों को हवा से छानता है और आपके आसपास एक सुरक्षा कवच बना देता है. ये देखने में भी बेहद खूबसूरत होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.