Home / समाचार / बच्चों और ससुराल की जिम्मेदारी निभाते-निभाते ,कड़ी मेहनत कर बनी IAS अधिकारी हासिल करी 80 वि रैंक

बच्चों और ससुराल की जिम्मेदारी निभाते-निभाते ,कड़ी मेहनत कर बनी IAS अधिकारी हासिल करी 80 वि रैंक

हर लड़की के लिए शादी के बाद पढ़ाई जारी रखना बेहद मुश्किल प्रश्न होता है केवल ऐसी बहुत ही कम लड़किया होती है जो शादी के बाद भी अपनी पढ़ाई जारी रख पाती है और अपने जीवन में सफलता हासिल करती हैं क्योंकि शादी के बाद उन पर अनेकों जिम्मेदारियां आ जाती है जिसके कारण वह जिम्मेदारियों के बोझ तले अपने सपनों को बुला बैठती है लेकिन उनमें से कुछ लड़कियां ऐसी भी होती हैं जो जिम्मेदारियों के साथ-साथ अपनी पढ़ाई की जारी रखती हैं और जीवन में सफलता की सीढ़ी कदम दर कदम चढ़ते जाती है आज हम आपको ऐसी ही कहानी सुनाने वाले हैं जहां पर हरियाणा की रहने वाली पुष्प लता ने उन सभी महिलाओं को प्रेरणा दी है जो शादी के बाद पढ़ाई छोड़ देती हैं पुष्प लता ने शादी के बाद ना सिर्फ अपने परिवार को संभाला बल्कि अपने एक छोटे बच्चे को भी लालन-पालन कर इन सभी जिम्मेदारियों के साथ-साथ उन्होंने अपनी पढ़ाई भी जारी रखी और यूपीएससी परीक्षा में टोपर की सूची में शामिल होकर इतिहास रच दिया।

गांव में करी थी पूरी शिक्षा

रेवाड़ी के एक छोटे से गांव में हुआ था जन्म पुष्प लता का उनकी शुरुआती सभी पढ़ाई वहीं से हुई थी बुनियादी सुविधाओं से काफी वंचित रही थी पुष्प लता उनके गांव में शिक्षा को कुछ ज्यादा अच्छी नहीं थी लेकिन उनकी शिक्षा के प्रति रुचि बहुत थी जिसके कारण वह पढ़ाई में आगे बढ़ती रहें उनकी इसी पढ़ने की चाह ने उन्हें आगे बढ़ने का रास्ता दिखाया और पूरे गांव की शुरुआती शिक्षा पूरी करने के बाद वह अपने रिश्तेदारों के घर आ गई और रिश्तेदारों में घर से ही अपनी आगे की पढ़ाई पूरी करि उन्होंने ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन अपने घर से बाहर आकर रिश्तेदारों के घर पूरी की पूरी करी थी इन सभी के बाद उन्होंने एक प्राइवेट कंपनी में कुछ समय के लिए नौकरी भी करी थी एक सामान्य परिवार होने के कारण नौकरी लगने के बाद उनकी शादी करवा दी गई थी और शादी के बाद उन्होंने एक छोटे से बेटे को भी जन्म दिया था लेकिन किसी कारणवश इस नौकरी में उनका मन नहीं लग रहा था जिससे वह काफी परेशान थी और उन्होंने कुछ समय बाद इस्तीफा दे दिया फिर वह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया हैदराबाद में असिस्टेंट मैनेजर के तौर पर काम करने लगी और वहां पर उसके साथ-साथ उन्होंने आईएस के तैयारी करनी शुरू कर दी और जब उनका मन वहां भी नहीं लगा तो उन्होंने सन 2015 में वहां पर नौकरी से इस्तीफा दे दिया और उसके बाद से संपूर्ण रूप से सिविल सर्विसेज की तैयारी करने लगी।

बिना ससुराल के सपोर्ट के करी थी परीक्षा की तैयारी

पुष्प लता के पति डॉक्टर के तौर पर कार्यरत हैं और उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा के दौरान उस प्रस्ताव को पुष्प लता को काफी मानसिक मदद दी थी और उन्हें भरोसा दिया था कि वह हमेशा कामयाब होंगी तब उनके प्रति हमेशा उनका हौसला बढ़ाया करते थे वह कहते थे कि यूपीएससी की पढ़ाई की शुरुआत में उन्हें इस कठिन परीक्षा को पास करने के लिए बहुत ज्यादा कड़ी मेहनत करनी होगी और बिना किसी को ध्यान में रखें केवल अपने भविष्य के बारे में सोचना होगा इस दौरान उनके पति ने उनकी हर समस्या का हल किया और उन्हें उन्हें अपने परिवार के द्वारा पूरा सपोर्ट मिला साथ-साथ उनके ससुराल वाले भी उनके समर्थन में थे और उन्हें पढ़ाई करने के लिए पूरा प्रोत्साहन दिया।

पुष्पलता ने कहा इंटरनेट है जानकारी का खजाना

यूपीएससी की तैयारी के दौरान पुष्प लता ने इंटरनेट के माध्यम से भी अपनी पढ़ाई पूरी करी थी उनका मानना है कि कोचिंग की ज्यादा जरूरत नहीं होती है आपको ज्यादा से ज्यादा सेल्फ स्टडी करनी चाहिए तभी आप आसानी से इस परीक्षा को कनेक्ट कर सकते हो बिना सेल्फ स्टडी के यहां पॉसिबल नहीं है बिल्कुल सटीक परीक्षा की स्ट्रैटेजी ही आपको भी सफलता तक पहुंचा सकती है वहीं अगर कभी किसी प्रॉब्लम में आप फस जाते हो तो आप इंटरनेट की मदद ले सकते हो जहां पर आपको हर परेशानी का समाधान मिलेगा और लगभग हर चीज का स्टडी मैटेरियल आसानी से उपलब्ध हो जाएगा वह बताती हैं कि उन्हें तैयारी के दौरान ऑनलाइन साधनों का काफी प्रयोग करा था और उन्हें इसमें सफलता भी मिली उनका मानना है कि अगर आपके पास सीमित किताबें हैं और उससे ज्यादा से ज्यादा रिवीजन करना भी आपको यूपी में सफलता दिला सकता है और आपको एक सफल इंसान बना सकता है।