बुधवार को रखते है व्रत तो नहीं होगा त्वचा रोग और व्यपार में होगी वृद्धि जानिये उपाय

समाज

भारत देश में बुधवार का दिन श्री गणेश जी को समर्पित किया गया है , जिनको हम विघ्नहर्ता भी कहते है। इनकी पूजा करने से हमारे शुभ काम होते है हमारे सभी कष्ट दूर हो जाते है। बुधवार के दिन कुछ कामों को नहीं करना चाहिए। इन कार्यों को करने से घर में समस्याएं होती है , वही यदि आपको त्वचा से जुड़ा कोई रोग है, व्यवसाय में नुकसान हो रहा है, कर्ज से परेशान हैं या घर में अक्सर क्लेश बना रहता है तो आपको बुधवार का उपवास अवश्य करना चाहिए। ऐसे में ये व्रत बहुत फायदेमंद माना जाता है।

कब से शुरू करना चाहिए ये व्रत:-
बुधवार का उपवास वैसे तो किसी भी महीने में शुक्ल पक्ष के बुधवार से आरम्भ किया जा सकता है, किन्तु इसे विशाखा नक्षत्र वाले बुधवार से आरंभ करना बहुत शुभदायी माना जाता है। अग्निपुराण में भी विशाखा नक्षत्र वाले बुधवार से उपवास आरम्भ करने की बात कही गई हैं। इसके अतिरिक्त एक बार व्रत आरम्भ करने के पश्चात् कम से कम 7 व्रत रहने चाहिए। यदि परेशानी अधिक विकट है तो 21 या 24 बुधवार तक व्रत रखें। अंतिम व्रत वाले दिन इसका उद्यापन कर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.