मात्र 5000 रुपए खर्च करके आप भी पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी लेकर शुरू कर सकते हैं अपना पोस्टल बिज़नेस

समाज

यदि आपके पास कम पैसे हैं और आप एक बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। और अच्छी धनराशि कमाना चाहते हैं। तो आप पोस्ट ऑफिस की किस फायदेमंद स्कीम का बहुत ज्यादा लाभ उठा सकते हैं। बस आप को खर्च करने होंगे ₹5000 इतनी कम धनराशि से आप शुरू कर सकते हैं अपना बिजनेस। पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी को लेकर आप कहीं भी अपना पोस्टल बिजनेस शुरू कर सकते हैं और अपनी आमदनी दोगुनी कर सकते हैं। बस आपको मन लगाकर अपने कार्य पर अग्रसर रहना होगा जब तक आप मुनाफे में नहीं आ जाते।

देश के कोने कोने तक पोस्ट ऑफिस पहुंचाने का है उद्देश्य

वैसे तो हमारे देश में 1.5 लाख पोस्ट ऑफिस हैं, लेकिन जनसंख्या ज्यादा होने की वजह से यह संख्या भी पर्याप्त नहीं है। पोस्टल डिपार्टमेंट चाहता है कि देश के कोने कोने तक पोस्ट ऑफिस की पहुंच होनी चाहिए, इसीलिए पोस्ट ऑफिस स्कीम निकाली हैं। जिसके तहत आप 5000 रुपए में पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी ले सकते हैं।

फ्रेंचाइजी लेने की आवश्यक शर्तें व प्रक्रिया

पोस्ट ऑफिस की दो तरह की फ्रेंचाइजी उपलब्ध होती है- 1) आउटलेट फ्रेंचाइजी, 2) पोस्टल एजेंट्स फ्रेंचाइजी। पहली फ्रेंचाइजी के अंतर्गत जिन जगहों पर पोस्ट ऑफिस नहीं खोला जा सकता, किंतु पोस्ट ऑफिस की आवश्यकता है, वहां आउटलेट फ्रेंचाइजी लेकर पोस्ट ऑफिस से संबंधित कार्यों को किया जा सकता है। दूसरी फ्रेंचाइजी में आप किसी भी शहरी या ग्रामीण क्षेत्र में पोस्टल स्टैंप्स और स्टेशनरी घर-घर पहुंचाने वाले पोस्टल एजेंट के रूप में कार्य कर सकते हैं।

पोस्टल फ्रेंचाइजी लेने के लिए आपकी आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए और व्यक्ति को भारत का नागरिक होना आवश्यक है। साथ ही साथ उस व्यक्ति को आठवीं कक्षा पास होने के सबूत के तौर पर सर्टिफिकेट भी जमा करना जरूरी है।

यदि आप यह सभी शर्तें पूरी करते हैं तो आप पोस्टल फ्रेंचाइजी के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए आपको  लिंक पर जाना होगा। इस लिंक से फॉर्म डाउनलोड करके आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। आवेदन में चुने जाने के बाद आपको पोस्ट ऑफिस के साथ एक एमओयू(MoU) भी साइन करना जरूरी है तथा फ्रेंचाइजी प्राप्त करने के लिए ₹5000 सुरक्षा के तौर पर भी जमा करने होते हैं।

फ्रेंचाइजी मिलने के बाद कैसे होगी कमाई?

फ्रेंचाइजी के लिए चुने जाने के बाद जो एमओयू (MoU) साइन कराया जाता है, उसमें पहले से ही कमीशन तय कर दिया जाता है। यह कमीशन पोस्ट ऑफिस की ओर से मिलने वाले प्रोडक्ट और सर्विस पर दिया जाता है। किस सर्विस पर कितना कमीशन मिलता है, इसे नीचे दी गयी सूची से समझा जा सकता है-

  1. रजिस्‍टर्ड आर्टिकल्‍स की बुकिंग पर 3 रुपए
  2. स्‍पीड पोस्‍ट आर्टिकल्‍स की बुकिंग पर 5 रुपए
  3. 100 से 200 रुपए के मनी ऑर्डर की बुकिंग पर 3.50 रुपए
  4. 200 रुपए से ज्‍यादा के मनी ऑर्डर पर 5 रुपए
  5. हर माह रजिस्‍ट्री और स्‍पीड पोस्‍ट के 1000 से ज्‍यादा बुकिंग पर 20 फीसदी अतिरिक्‍त कमीशन
  6. पोस्‍टेज स्‍टांप, पोस्‍टल स्‍टेशनरी और मनी ऑर्डर फॉर्म की बिक्री पर सेल अमाउंट का 5 फीसदी
  7. रेवेन्‍यू स्‍टांप, सेंट्रल रिक्रूटमेंट फी स्‍टांप्‍स आदि की बिक्री समेत रिटेल सर्विसेज पर पोस्‍टल डिपार्टमेंट को हुई कमाई का 40 फीसदी

पोस्टल एजेंट के क्या है काम?

अपने ग्राहकों को पोस्ट ऑफिस से मिलने वाली सुविधाएं जैसे- स्टांप, स्पीड पोस्ट, आर्टिकल्स, स्टेशनरी, मनी ऑर्डर की बुकिंग आदि उपलब्ध करानी होती है। इन सुविधाओं को पोस्टल एजेंट बनकर ग्राहकों के घर तक पहुंचाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.