‘रोटी वाली अम्मा’ की आर्थिक स्थिति सुधरी, 80 साल की उम्र में दोनों बेटों ने साथ छोड़ा था जब लोगों ने की मदद …

समाज

आज का सोशल मीडिया पर है एक बूढ़ी अम्मा बहुत वायरल हो रही है। जिनका नाम है “रोटी वाली अम्मा “उनकी कहानी सुनकर लगभग हर एक व्यक्ति के प्रति उनकी आंख से आंसू बहने लग जाते हैं। लेकिन अब उनके चेहरे पर खुशी दिखाई दी है क्योंकि 80 वर्ष की उम्र में उनके दोनों बेटों ने उसका साथ छोड़ दिया तब। उन्हें आप लोगों की मदद मिल रही है। पिछले 20 सालों से वहां आगरा के चौराहे के पास मिट्टी के चूल्हे पर रोटी सीखनी पड़ती है और उनके साथ मौजूद है।

वहीं अब उनके दुकान पर एक बढ़िया ठेला लग चुका है। सिर पर प्लास्टिक के छत की जगह स्टील की छत लग गई है और पंखा भी लग गया है। रोटी वाली अम्मा अब प्लास्टिक के स्टूल पर बैठकर रोटी सेंक रही हैं। मिट्टी के चुल्हे की जगह गैस चुल्हे ने ले ली है। जिसके बाद अब अम्मा के चेहरे पर एक सुकून देने वाली मुस्कान नज़र आ रही है।

रोटी वाली अम्मा कि कहानी वायरल होने के बाद उनके अकाउंट में पीएम स्वनिधि योजना के तहत 10 हज़ार रुपये भी आ चुके हैं और साथ ही साथ कई लोगों ने उनकी आर्थिक मदद भी की है। पहले जहाँ उनके दुकान पर कोई नज़र नहीं आता था वहीं अब अम्मा के हाथ का खाना खाने के लिए भीड़ लग रही है। इन सब चीजों से खुश अम्मा भी लोगों का शुक्रिया अदा कर रही हैं।

अम्मा के अनुसार उनके परिवार में उनके दो बेटे हैं, लेकिन दोनों ही उनसे अलग हो चुके हैं और अम्मा अपने पति की मौत के बाद वहीं फूटपाथ पर चूल्हा जलाकर अपनी रोजी-रोटी चलाती है। वहाँ के लोग उन्हें रोटी वाली अम्मा कहते हैं, अब वह पूरे देश में ऐसी नाम से प्रसिद्ध हो चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.