विशालकाय अजगर जानवर को निकलने के बाद पड़ा बेशुद्ध वन विभाग वालों ने ऐसे बचाई जान

समाज

ऐसा हमेशा से देखा गया है कि जंगली जानवरों शहर या गाओ में आते रहते हैं। पिछले कुछ दिनों पहले की बात है कि एक अजगर रास्ता भटक कर गांव में आ गया था। और वह बारी-बारी से किसी ना किसी को अपना शिकार बनाता था 1 दिन सोमवार को रायपुर में जब उस भटके हुए हैं किसी विशालकाय जानवर को शिकार बना लिया। उसके शिकार के बाद वह सड़क पर पड़ा हुआ था जिसे देखते ही लोगों की भीड़ एकत्रित होने लगी और लोगों के बीच भय का माहौल बनता जा रहा था। माना जा रहा है कि वह बाढ़ के कारण ही जंगल से भटक कर सड़क के रास्ते पर आ गया था।

सबसे पहले अजगर को वहाँ एक मंदिर के पुजारी धाराजीत सिंह मैं देखा, जिसे देखकर उनके होश उड़ गए। फिर उन्होंने शोर मचाया शुरू किया तो कुछ ही देर में ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। अजगर पूरी तरह से घायल पड़ा हुआ था और उसके पेट से खून निकल रहा था। वह वहाँ से हिल भी नहीं पा रहा था। उसके बाद ग्रामीणों ने वन विभाग को फ़ोन कर सूचना दी। इस पर वन विभाग के रेस्क्यू टीम ने मौके पर पहुँच कर ग्रामीणों की भीड़ को अजगर से दूर किया।

वन विभाग के कर्मचारियों ने सड़क पर पड़े विशाल अजगर को ट्रैक्टर-ट्रॉली में लादकर, पहले उसका इलाज़ करवाया उसके बाद डंडिया वन में छोड़ दिया। अजगर को ट्रैक्टर ट्राली में मोटी रस्सी के द्वारा लादा गया। ऐसा कहा जाता है कि अजगर ज्यादातर जानवरों का ही शिकार करता है। अजगर इंसानों के लिए खतरनाक नहीं है, लेकिन उसके विशाल कद को देखकर लोग डर ही जाते हैं।

डीएफओ राजीव कुमार ने बताया कि “अजगर ने किसी जानवर का शिकार कर उसे निगल लिया था। वह शिकार करते समय घायल भी हो गया था। वन में छोडऩे से पहले उसका उपचार किया गया। उनका कहना है कि पकड़ा गया अजगर मादा है और इसकी लंबाई करीब 11 से 12 फिट है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.