यूपी का एक अनोखा परिवार जहां पर दो बेटी हैं IAS ऑफिसर, 2 IRS ऑफिसर और 1 IAS ऑफिसर जानिए पूरी कहानी

News ज्ञान नौकरी

आज हम आप सभी लोगों को एक ऐसी कहानी सुनाने वाले हैं जहां पर एक ऐसा परिवार है जहां पांच बेटियों में दो बेटियां आईएएस ऑफिसर एक बेटी आई आर एस ऑफिसर और दो बेटी रफीक इंजीनियर है जिन बेटियों को लेकर समाज सा ने मारा करता है उन बेटियों ने इस परिवार में अलग ही रुतबा और नाम कमा कर दिया है समाज में यह परिवार है उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के फरीदा पुर तहसील के एक छोटे से गांव नदिया का।

इस परिवार के मुखिया नवदिया शो अशोक के चंद्रसेन नगर और उनकी पत्नी वीणा देवी के घर में सन 1981 में उनकी पहली बेटी का जन्म हुआ था जिसका नाम उन दोनों ने उस जिता सागर रखा था उसके बाद उन्हें बेटे की चाहत ही लेकिन भगवान को कुछ और मंजूर था और उन्हें लगातार चार बेटियां हुए पांच बेटियों के बाद उनके घर में एक भी बेटे का जन्म नहीं हो पाया जिसके कारण चंद्रसेन सागर और उनकी पत्नी मीना को सारा समाज तने मारा करता था और कहता था कि इन बेटियों को इतना पढ़ाने की जरूरत क्या है इनकी आप जल्द से जल्द शादी कर दीजिए इतना पढ़ लिखकर यह लड़कियां कौन सा आईएएस ऑफिसर बन जाएंगे सारी बातों को एक कान से सुनकर पति-पत्नी दूसरे कान से निकाल दिया करते थे।

पूरा परिवार और समाज में आईएस ऑफिसर के नाम से मशहूर है

अपने पांचो बेटियों पर चंद्रसेन सागर कर्म करते हुए कहते हैं कि वह बेहद ही खुशनसीब पिता है जिसकी पांचों बेटियां आज अपने निजी जीवन में सफल हो चुकी है चंद्रसेन सागर के भाई सियाराम सागर फरीदपुर से विधायक भी रह चुके हैं कुछ समय पहले और चंद्र सेन सागर खुद 10 साल तक भुता बरेली ब्लॉक के प्रमुख जैसे बड़े पद का कार्यभार संभाल चुके हैं वह कहते हैं कि हमारा परिवार कभी राजनीतिक क्षेत्र से जुड़ा हुआ नहीं था लेकिन आज हमारी आईएस वीडियो के नाम से पूरे समाज में प्रसिद्ध है उन्होंने कहा कि जितना उनकी कल्पना भी नहीं थी उससे ज्यादा उनकी बेटियों ने उन्हें कर दिखाएं।

अजीता सागर ने आईआरएस बंद कर दिखाया

चंद्रसेन सागर की सबसे बड़ी बेटी अर्जित सागर ने सन 2009 में अपने दूसरे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करें और अपने सपने को साकार करें लेकिन उसे 628 वि रैंक हासिल हुई और रन कम होने की वजह से वहां आईएएस ना बन कर आई आर एस बनी फिलहाल अर्चिता ज्वाइन कमिश्नर कस्टम मुंबई में पोस्टेड हैं और अपना कार्यभार संभाल रही है उन्होंने आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा के सुरेश मेंबर से शादी के पवित्र बंधन जुड़ा है और सुरेश भी एक आईआरएस ऑफिसर हैं अपने जीवन में।

दूसरी बेटी और अर्पिता सागर सन 2015 में बनी IAS ऑफिसर

चंद्रसेन सागर की दूसरी बेटी अर्पिता सागर अपनी बड़ी बहन किस से प्रेरणा लेते हुए हमेशा तैयारी में जुटी रहती थी और अर्पिता ने भी सन 2015 में अपने दूसरे प्रयास में सफलता हासिल करें और आईएएस अधिकारी बनकर अपने पिता के सपने को पूरा किया और उन्हें गौरवान्वित महसूस कराया गुजरात कैडर की आईएएस पिता वलसाड में डीडी ओके पद पर अभी तैनात हैं इनकी शादी भिलाई छत्तीसगढ़ के एक बैंक कर्मी विपुल तिवारी के साथ हुई थी और दोनों ही अपने वैवाहिक जीवन में बेहद खुश हैं।

जीवन में अपने बेटियों को लेकर माता-पिता को सुनने पड़े थे ताने

अर्पिता सागर ने कहा कि हम पांच बहनों के कारण हमेशा से ही हमारे माता-पिता को अपने जीवन में ताने सुनने को मिले थे समाज वालों से हमारे दहेज शादी की बातें हमेशा उससे कहीं जाती थी इन सारी बातों को सुनने के बाद मार थोड़ी उदास हो जाती थी लेकिन यह भी कहती थी अगर तुमने अपने जीवन में कुछ कर दिखाया तो समाज के लोगों का मुंह अपने आप बंद हो जाएगा और वह कभी भी हम पर सवाल नहीं उठा सकेंगे तो उसका सबसे अच्छा जरिया है कि तुम अपनी शिक्षा को अपना हथियार बना लो और ध्यान लगाकर पढ़ाई करो इसके लिए तुम्हें खूब मेहनत करनी पड़ेगी और कामयाब लोगों को दिखाना होगा कि तुम क्या कर सकती हो लोग इन वीडियो के लिए उल्टी सीधी बातें करते हैं और उन्हें कमजोर समझते हैं लेकिन तुम उन्हें दिखाओ क्या कर सकती हैं अशोक चंद्र सेन और मीना दीदी की 5 बेटियां सफलता पाकर अपने माता पिता को गौरवान्वित महसूस कराया और समाज का मुंह बंद कर दिया इसके साथ ही साथ उन्होंने देश में अपने माता-पिता का नाम रोशन करा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *