बचपन का प्यार चढ़ा परवान ,पति बना IPS अफसर तो पत्नी बनी DCP ,अनोखी कहानी

News ज्ञान नौकरी समाज

आपने अपने जीवन में बहुत से लोगों को यह कहते हुए जरूर सुना होगा की धर्मपत्नी हमेशा घर की बहुत होती है और हमेशा वही हुकुम चलाती है अपने पति के ऊपर इसके अलावा व्यंग्यात्मक लहजे में पत्नी को होम मिनिस्टर भी कहा जाता है और उन्हें ज्यादातर इसी नाम से संबोधित किया जाता है क्योंकि ज्यादातर घर में बिना पत्नी के आगे से पति कुछ भी नहीं करते हैं और कुछ-कुछ पति तो अपनी पत्नी से डर कर रहते हैं यह बात तो मजाक की बात है लेकिन क्या आप जानते हैं एक उत्तर प्रदेश के नोएडा शहर में रहने वाले आईपीएस ऑफिसर अंकुर अग्रवाल की पत्नी वृंदा शुक्ला पर यह कहावत बिल्कुल सच साबित होती है क्योंकि वृंदा जी सिर्फ घर में ही नहीं बल्कि असल में भी उनकी बॉस हैं।

अंकुर अग्रवाल और विंध्य शुक्ला की स्टोरी तो मानो किसी फिल्मी जगत की स्टोरी की तरह लगती है और आप किसी फिल्म की लव स्टोरी देख रहे होंगे आपको इनकी कहानी सुनने के बाद बिल्कुल ऐसा ही प्रतीत होगा वह दोनों ही बचपन से फ्रेंड थे और साथ ही में अपनी पूरी पढ़ाई भी करी फिर गए दोनों आईपीएस ऑफिसर बने इसके बाद वर्ष 2019 में उन दोनों ने एक दूसरे के जीवन साथी बना लिया और अपने जीवन के 1 नए बंधन में बंध गए तो हम आपको इस कहानी को विस्तार से बताएंगे।

दोनों पति-पत्नी इस वक्त नोएडा में ड्यूटी पर है तैनात

यूपी के गौतम बुध नगर जिले में जब पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हुई उसके पश्चात विंदर शुक्ला को गौतम बुध नगर में पुलिस उपयुक्त बनाया गया और उन्हें डीसीपी महिला सुरक्षा के पद पर ड्यूटी ज्वाइन करें और अपना कार्यभार संभाला उनके पति अंकुर अग्रवाल को भी वहीं पर अपर पुलिस उपयुक्त की पोस्ट पर नियुक्त किया गया और दोनों ही इस वक्त अपनी ड्यूटी पर तैनात हैं और भारत देश को अपनी सेवा दे रहे हैं।

अमेरिका में दोनों ने शुरू की थी एक साथ मिलकर यूपीएससी की तैयारी

अंकुर अग्रवाल और विंदर शुक्ला सिविल सर्विस में जाना चाहते थे और दोनों ने ही मन बना लिया था कि वह अब इसके लिए कड़ी मेहनत करेंगे इसीलिए उन्होंने यूपीएससी परीक्षा देने का फैसला किया उन दोनों ने अमेरिका में जॉब करते हुए यूपीएससी एग्जाम की तैयारी करनी शुरू कर दी और दिन रात एक कर दिए अपनी पढ़ाई के लिए वर्ष 2014 में वृंदा ने दूसरे अटेंड में सिविल सर्विस एग्जाम में सफल हुई और फिर गए आईपीएस अफसर बने उन्होंने नागालैंड केडर मिला।

2019 में दोनों ने थामा था एक दूसरे का हाथ

इस प्रकार से इन दोनों की बचपन की दोस्ती बड़े होते होते प्यार के रंग में रंग गई और वृंदा शुक्ला और अंकुर अग्रवाल की सारी बचपन की यादें अब प्यार में बदल चुकी थी और जब दोनों आईपीएस ऑफिसर बन गए तो उन्होंने शादी करने का निर्णय लिया और एक साथ इस बंधन में बंध गए सन 2019 में उन दोनों ने एक साथ विवाह पर विवाह के इस पावन बंधन में बंध गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *