गाजियाबाद की एक कंपनी ने बनाया ऐसा पेंट, छत पर लगाते ही दस डिग्री कम हो जाएगा तापमान, जानें खासियतें

Delhi Trends

गर्मी में तपती घर और दफ्तर की छत और दीवारों से गाजियाबाद के इस खास पेंट से राहत मिलेगी। कंपनी का दावा है कि विशेष रूप से तैयार किए गए इस पेंट को छत और दीवारों पर लगाने से तापमान में पांच से 10 डिग्री सेल्सियस तक की कमी आएगी। कंपनी ने मेक इन इंडिया के तहत इसे विशेष रूप से तैयार किया है। मसूरी-गुलावटी रोड औद्योगिक क्षेत्र स्थित गाजियाबाद की विनायक इंडस्ट्रीज ने विशेष पेंट तैयार किया है, जो पूरी तरह इको फ्रेंडली है। सफेद रंग के इस पेंट की खासियत है कि तपती गर्मी में यह दीवार और छतों के तापमान को आठ से 10 डिग्री सेल्सियस तक कम कर देगा।

यह फैक्ट्रियों के फैक्ट्री शेड पर भी कारगर बताया जा रहा है:

यह फैक्ट्रियों के फैक्ट्री शेड पर भी कारगर बताया जा रहा है, जिसमें गर्मी की तपन पांच से आठ डिग्री तक कम होने का दावा किया गया है। हीट स्ट्रोक को कम करने वाले इस पेंट की कीमत आमतौर के पेंट से करीब 35 से 40 प्रतिशत अधिक है। यह लगभग 7 से 8 वर्ष तक चलता है। इसके लिए उनकी कंपनी को हाल ही में उद्यमी अवार्ड से भी नवाजा गया था। इसे कंपनी ने इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल (आइजीबीसी) और नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फार टे¨स्टग एंड सेलीब्रेशन लेबोरेट्रीज (एनएबीएल) से प्रमाणित कराया है।

प्रदर्शनी में दर्शाया था कम तापमान:

इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (आइआइए) की नोएडा स्थित बिजनेस मीट के साथ प्रदर्शनी में कंपनी ने उत्पाद को प्रदर्शित किया था, जिसमें बल्ब लगाकर चेंबर में गर्मी पैदा की। वहीं, इसमें एक साधारण पत्थर और एक पेंट लगे पत्थर का तापमान दर्शाया। साधारण पत्थर में 44 डिग्री तापमान था। वहीं, पेंट लगे पत्थर का तापमान 33 डिग्री सेल्सियस था।मोहित अग्रवाल (उद्यमी विनायक इंडस्ट्रीज, गाजियाबाद) का कहना है कि इस पेंट को छत और दीवारों पर लगाने से पंखा गर्म हवा फेंकना कम कर देता है।

तापमान भी पांच से 10 डिग्री सेल्सियस तक होता है और बिजली का बिल भी कम होता है। इससेबिल्डिंग के रखरखाव में कम खर्च होता है। ट्रेन के लोको में भी इसका उपयोग किया गया है। गर्मी में इसकी बेहद मांग है। ट्रेन के लोको में भी इसका उपयोग किया गया है। गर्मी में इसकी बेहद मांग है।

DJH×ôçãUÌ ¥»ýßæÜ,
©Ul×è çßÙæØ·¤ §¢ÇUSÅþUèÁ,
§â Âð¢ÅU âð ƒæÚU-΍ÌÚU ·¤è ÀUÌ ¥õÚU ÎèßæÚU𢠻×èü ·¤ô ·¤ÚUð¢»è Õð¥âÚU – ¹ÕÚU ·ð¤ âæÍ
——-
Áæ»ÚU‡æ

Leave a Reply

Your email address will not be published.