चालान न भरने के कारण अब लोग नहीं ले सकेंगे बीमा

Delhi Trends News

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने चालान नहीं भरने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की योजना बनाई है। दरअसल, वाहन का चालान अब कार के बीमा से बंधा हुआ है।ऐसे में अगर कार मालिक ने चालान नहीं भरा है तो उसके वाहन का बीमा नहीं होगा। नतीजतन, दुर्घटना की स्थिति में वाहन चालकों को काफी परेशानी होगी।

क्या प्रस्ताव भेजा

फिलहाल दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने अपनी सिफारिश दिल्ली सरकार को सौंप दी है। दिल्ली सरकार की मंजूरी मिलते ही इसे लागू कर दिया जाएगा।इस बड़े फैसले का कारण यह है कि कार का चालान रोजाना होता है, फिर भी वाहन मालिक चालान नहीं भरते। नतीजतन कई कार मालिकों का महीनों से चालान काटा जा रहा है।

डीएसपी के अनुसार

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के डीसीपी एसके सिंह के मुताबिक लोग या तो चालान नहीं भरते या समय पर नहीं भरते.आपको बता दें कि दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की ओर से जारी करीब एक करोड़ 13 लाख चालान अभी तक पूरे नहीं हुए हैं.हमारी जानकारी के अनुसार, डीसीपी एसके सिंह ने कहा कि लोगों को चालान का भुगतान करने के लिए प्रेरित करने के लिए कार बीमा को अब वाहन के चालान से जोड़ा जाएगा।ऐसे में जब तक कार मालिक चालान नहीं भरेगा, वाहन का बीमा नहीं होगा और बीमा का नवीनीकरण नहीं होगा।

सरकार ने क्या जवाब दिया

आपको बता दें कि दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने इसके जवाब में दिल्ली सरकार को पत्र जारी किया है. दिल्ली सरकार ने दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को लिखित में जवाब देते हुए कहा है कि अधिकारियों के साथ इस विषय की समीक्षा की जा रही है.

यह देखा गया है कि वाहनों का लगातार चालान किया जाता है, और वाहन मालिक चालान नहीं भरते हैं। ऐसे में कई कार मालिकों के चालान महीनों तक बकाया रहते हैं। पिछले साल के 2021 के आंकड़ों के मुताबिक, कुल काटे गए चालान का सिर्फ 10 फीसदी ही जमा किया गया. वर्ष 2021 में रेड लाइट जंपिंग, स्पीडिंग, स्टॉपिंग और अन्य उल्लंघनों के लिए कुल 5091592 चालान जारी किए गए, जिनमें से केवल 571479 चालान जमा किए गए। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के डीसीपी (मॉडर्नाइजेशन) एसके सिंह के मुताबिक लोग या तो चालान नहीं भरते या समय पर नहीं भरते. फिलहाल दिल्ली ट्रैफिक ने करीब एक करोड़ 13 लाख चालान काटे हैं जो पूरे नहीं हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.