दिल्ली में पुराने वाहन हो रहे हैं जब्त, हो जाएं सावधान कहीं आपका वाहन न हो जाए कबाड़

Delhi Trends

दिल्ली में प्रदूषण को रोकने के लिए कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं । इसके लिए सरकार की ओर से भी कई नियम बना दिए गए हैं । वहीं दिल्ली में पुराने वाहनों को चलाने पर पहले से ही रोक लगा दी गई है । लेकिन अब भी दिल्ली में कई लोग पुराने वाहनों को चला रहे हैं जिससे प्रदूषण बढ़ रहा है । इसलिए अब दिल्ली सरकार द्वारा तेज गति से अभियान शुरू किया गया है । हालांकि हरियाणा सरकार अपने कुछ जिलों को एनसीआर के दायरे से बाहर करने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को दे चुकी है. फिलहाल दिल्ली में पुराने वाहनों को ले जाना खतरे से खली नहीं है.  दिल्ली में 15 साल पुराने पेट्रोल व 10 साल पुराने डीजल वाहनों को चलाने पर रोक है । ऐसे वाहन का जीवनकाल अब पूरा हो चुका है और ये वाहन अब प्रदूषण को बढ़ावा देते हैं ।

दिल्ली में जब पकड़े जा रहे हैं पुराने वाहन

दिल्ली में 15 साल पुराने पेट्रोल व 10 साल पुराने डीजल वाहनों को चलाने पर रोक है। ऐसे वाहन का जीवनकाल अब पूरा हो चुका है और ये वाहन अब प्रदूषण को बढ़ावा देते हैं । लेकिन कई लोग अब भी ऐसे ही वाहनों का इस्तेमाल कर रहे हैं इसलिए दिल्ली सरकार ऐसे वाहनों के खिलाफ एक्शन मोड में आ गई है और इन्हें पकड़ पकड़ कर स्क्रैप भी किया जा रहा है । परिवहन विभाग द्वारा ऐसे वाहनों की धरपकड़ की जा रही है । अब जिन भी वाहन चालकों के पास इस तरह के वाहन हैं उन्हें इन वाहनों को रद्द कर देना चाहिया। दिल्ली में इन वाहनों को चलाने की इजाजत नहीं मिलने वाली है ।

लगातार जब्त किए जा रहे हैं वाहन

बताया जा रहा है कि साल 2022 में अब तक 500 वाहनों को पकड़ कर उन्हें एजेंसियों को कबाड़ के लिए सौंप दिया गया है । अब 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहन जैसे ही ये तय समय सीमा को पूरा करते हैं वे खुद ब खुद रद्द ही माने जा रहे हैं । इस कदम से सरकार का उद्देश्य दिल्ली में प्रदूषण को कम करने का है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.