रिश्तेदार / दोस्त पूछें सैलरी तो इन तरह स्मार्ट तरीकों से जरूर दें जवाब

Delhi Trends

आपकी सैलरी कितनी है? आप कितना कमा लेते हैं? सैलरी कितनी मिल रही है? यह सवाल अधिकतर लोग पूछ ही लेते हैं। क्या आपसे भी कभी सैलरी को लेकर ऐसी बात पूछी गई है? अगर नहीं तो फिर कभी कोई रिश्तेदार या अन्य जान-पहचान वाला पूछ सकता है। इसलिए खुद को तैयार रखें ऐसे सवालों का सामना करने के लिए।

जब आपसे कोई आपकी सैलरी पूछे तो उसको वास्तव में क्या जवाब देना चाहिए? क्या अपनी सैलरी बता देनी चाहिए? इस बात को समझने के लिए नीचे दी गई कुछ बातों को समझ लें। इस आधार पर आप सैलरी पूछने वाले को अपने जवाब से संतुष्ट कर सकते हैं।

क्या अपनी सैलरी बता देनी चाहिए?

इसको लेकर लोगों के अपने-अपने मत हो सकते हैं। लेकिन प्रोफेशनल लाइफ में इस तरह के सवाल पूछने से मना किया जाता है। अपने कलीग से भी सैलरी बताने के लिए मना किया जाता है। इतना ही नहीं किसी की सैलरी पूछना भी गंदी आदत मानी जाती है। इस आधार पर कह सकते हैं कि सैलरी नहीं पूछनी चाहिए और न ही बतानी चाहिए।

क्यों नहीं बतानी चाहिए सैलरी?

सैलरी एक बेहद पर्सनल मैटर है। इसके बारे में किसी और को बताने की कोई आवश्यकता नहीं है। सैलरी जानने के बाद आपकी कमाई के बारे में पता चल सकता है, जो कि सुरक्षा के लिहाज से सही नहीं हो सकता है। इसके अलावा भी सैलरी न बताने के कई कारण हैं। इसलिए अपनी सैलरी को गोपनीय रखने में ही भलाई समझें।

सैलरी किसे न बताएं

ऐसा कहा जाता है कि क्लोज फ्रेंड, रिलेटिव या कलीग को सैलरी के बारे में नहीं बताना चाहिए। इसके अलावा संभव हो तो परिवार के सदस्यों से भी सैलरी के बारे में न बताएं क्योंकि जब ये बात उनको पता चलेगी तो फिर वहां से वो जानकारी कहीं और भी शेयर होगी। इसलिए सैलरी को खुद तक ही रखना चाहिए।

सैलरी किससे न छिपाएं

अब हमें यह भी जान लेना चाहिए कि सैलरी किससे नहीं छिपानी चाहिए। किसी बैंकिंग कार्य या जॉब इंटरव्यू के दौरान सैलरी के बारे में गलत जानकारी न दें। यहां पर गलत जानकारी से नुकसान हो सकता है।

सैलरी पूछने वालों को क्या दें जवाब?

हर कोई दूसरे की कमाई के बारे में जानने के लिए बेताब रहता है। खासकर रिश्तेदार मिलने पर तपाक से सैलरी के बारे में पूछ देते हैं। ये बात वे दस लोगों के बीच में भी पूछने से हिचकिचाते नहीं हैं क्योंकि उनको अंदाजा नहीं कि वे कितना जोखिमभरा और पर्सनल सवाल पूछे हैं। चलिए अब हम ऐसे लोगों को जवाब देने का स्मार्ट तरीका बता देते हैं-

नजरअंदाज करने की कोशिश करें

सैलरी पूछने पर सवाल को अनसुना करने की कोशिश करें। यदि सामने कोई जान पहचान वाला दिख रहा है तो उसे हाय-हैलो करके आगे निकल जाएं। यदि वह रोकता है तो उसको बाद में बात करने के लिए बोल दें। इस तरह उसको टालने से वह खुद समझ जाएगा कि आपको उसको बताना नहीं चाहते हैं।

दूसरी बातों में उलझा दें

यदि आप उसको नजरअंदाज करके कहीं निकल पाने में असमर्थ हैं तो उसको दूसरी बातों में उलझाने की कोशिश करें। उससे कोई ऐसा सवाल कर दें ताकि वह कुछ देर के लिए खुद ही सोच में पड़ जाए। इतनी देर में आप वहां से कहीं और जाने की कोशिश करें।

बाद में बता दूंगा

अगर किसी रिश्तेदार ने अधिक लोगों के बीच में सैलरी का सवाल किया है तो उसको बाद में बताने के लिए बोल दें। उसको बोलिए कि आपको इत्मीनान से अपनी सैलरी के बारे में समझा दूंगा।

एक लाइन में दें जवाब

अगर कोई सैलरी जानने की जिद्द पर अड़ जाए तो उसको भी बोल दें- भाई इतनी महंगाई में बस रोजी-रोटी चल रही है, यार सैलरी बताने लायक नहीं मिल रही है, जैसे-तैसे गुजारा-बसर हो रही है, हां ठीक-ठाक मिलती है… इस तरह के जवाब देकर भी उनको समझाया जा सकता है।

सॉरी बोलकर निकल लें…

अगर किसी को सीधे तौर पर मना करना चाहते हैं तो बोलें-  माफ करें, मैं इस जानकारी को किसी के साथ शेयर नहीं कर सकता हूं’, ‘सॉरी, सैलरी डीटेल्स को पर्सनल रखना चाहिए।’ इस तरह से मना किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.