दिल्ली और हरयाणा से राजस्थान के लिए चलेगी ये नई बुलेट ट्रैन, 875 कि. मी. के स्पीड से दौड़ेगी

Delhi Trends

बता दें कि भारत में बुलेट ट्रेन परियोजना का काफी तेजी से चल रहा है। बताया जा रहा है कि इस परियोजना का सबसे ज्यादा लाभ राजस्थान को ही मिलने वाला है। जानकारी के मुताबिक बुलेट ट्रेन राजस्थान के 7 जिलों से होकर गुजरने वाली है जिसमें अजमेर, उदयपुर, जयपुर, अलवर, डूंगरपुर, चित्तौड़गढ़ और भीलवाड़ा शामिल है। बुलेट ट्रेन का ट्रेक दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 27 से शुरू होगा। इस पूरे ट्रेक की कुल लंबाई 875 किमी बताई जा रही है। वहीं 875 में से 657 किमी का सफर बुलेट ट्रेन राजस्थान में ही तय करेगी। ऐसे में इस ट्रेन के राजस्थान में भी 9 स्टेशन बनाने का प्रस्ताव रखा गया है। वहीं हरियाणा के रेवाड़ी और मानेसर से होती हुई ये ट्रेन अलवर से राजस्थान में दाखिल होगी।

उदयपुर में बनाई जाएंगी 8 सुरंग:

बता दें कि इस परियोजना से राजस्थान के 337 गाँव के प्रभावित होने की संभावना भी जताई जा रही है। बुलेट ट्रेन एक हाई स्पीड ट्रेन है जिसकी रफ्तार 320 किमी प्रति घंटे होगी। वहीं बताया जा रहा है कि इस ट्रेन परियोजना से उदयपुर को भी काफी लाभ मिलने वाला है। उदयपुर में भी 8 सुरंगे बनाई जाने वाली हैं। राजस्थान के इस ज़िले में बुलेट ट्रेन के लिए 127 किमी का ट्रेक तैयार किया जाएगा। बता दें कि ये ट्रेन 5 नदियों के ऊपर से होकर भी गुजरने वाला है। वहीं उदयपुर में बनने वाली 8 सुरंगे भी 1 किमी से कम दूरी की होने वाली हैं। बताया जा रहा है कि नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड की ओर से दिल्ली अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरीडोर का सर्वे भी लगभग पूरा हो चुका है।

ये होगा दिल्ली अहमदाबाद बुलेट ट्रेन का प्रस्तावित रूट:

बता दें कि दिल्ली अहमदाबाद बुलेट ट्रेन के लिए एक रूट प्रस्तावित किया गया है जो दिल्ली के द्वारका सेक्टर 21 से शुरू होकर गुरुग्राम में एंटर करेगा और मानेसर व रेवाड़ी से होता हुआ दिल्ली जयपुर राजमार्ग में शामिल हो जाएगा। वहीं राजस्थान में ट्रेक कि शुरुआत अलवर से ही होगी। इसके बाद ये ट्रेक जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, उदयपुर और डूंगरपुर से होता हुआ अहमदाबाद में प्रवेश करेगा।

इस तरह से चुना गया है ये रूट:

दरअसल दिल्ली अहमदाबाद बुलेट ट्रेन के रूट को चुनते हुए इस बात का ध्यान रखा गया है कि भूमि का अधिग्रहण आसानी से किया जा सके। इसलिए इस ट्रेन को नेशनल हाइवे 48 के समानांतर ही गुजारा जा रहा है।वहीं गुजरात में भी इस ट्रेन के 3 स्टेशन बनने की बात कही जा रही है।वहीं दिल्ली हरियाणा सरकार भी इस प्रोजेक्ट को अपनी मंजूरी दे चुके हैं। हालांकि अभी आवास एवं शहरी मंत्रालय के फैसले का इंतज़ार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.