बुधवार से बढ़ेगी दिल्ली में सर्दी, वैलेंटाइन्स वीक मनाया जाएगा कड़ाके की ठंड में

Delhi Trends

शहर में सोमवार से प्यार के सप्ताह (Valentine Day) की शुरुआत देखने को मिली। 7 फरवरी को शहरभर में लोग रोज डे सेलिब्रेट करते दिखे। अब 14 फरवरी तक अलग दिन सेलिब्रेट किए जाएंगे लेकिन इसके साथ शहरवासियों को एक बार फिर ठंड से रूबरू होना पड़ेगा। हालांकि बसंत ऋतु की शुरुआत हो चुकी है। लेकिन मौसम विभाग के अनुसार, अभी सर्दी दिल्ली को छोड़ने के मूड में नहीं है। कड़ी धूप खिलने के बाद बार बार सर्द मौसम पलट कर दिल्ली की ओर आ रहा है। मौसम विभाग की ताजा जानकारी के अनुसार सोमवार को पूरे दिन मौसम साफ रहेगा। अधिकतम तापमान 25 डिग्री और न्यूनतम 6 डिग्री रह सकता है। इसके बाद न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी होगी। वहीं मंगलवार को यानी 8 फरवरी से फिर से दिल्ली में बादलों की लुका छिपी शुरू हो जाएगी।

इस कारण आसमान खुला नहीं रहेगा। इसके बाद बुधवार को यानी 9 फरवरी को प्रदेश में तेज हवाओं के साथ बारिश हो सकती है। बारिश के कारण बुधवार को तापमान गिर सकता है।

8-9 फरवरी के बाद फिर से बदलेगा मौसम:

8 और 9 फरवरी को अपने तेवर दिखाने के बाद 10 फरवरी से फिर से मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। हालांकि मौसम विभाग का कहना है कि 13 फरवरी तक दिल्ली में 21 से 22 डिग्री तक का तापमान रहेगा। 8 फरवरी को राजस्थान के उत्तरी भागों और 9 फरवरी को दिल्ली समेत पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में छिटपुट बारिश हो सकती है। 9 और 10 फरवरी को अधिकतम तापमान में 2 से 3 डिग्री की गिरावट आ सकती है। वहीं, न्यूनतम तापमान में 2 से 4 डिग्री की वृद्धि हो सकती है।

कई प्रदेशों में न्यूनतम तापमान में गिरावट देखने को मिली:

बता दें कि स्काईमेट के अनुसार रविवार को भी उत्तरी भारत में कई जगहों पर शीतलहर देखने को मिली। इस काररण दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कई क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान 3 से 5 डिग्री तक कम रहा। विशेषज्ञों के अनुसार तापमान में गिरावट का प्रमुख कारण शुष्क और ठंडी उत्तर-पश्चिमी हवाएं हैं। पश्चिम हिमालय के बर्फीले पहाड़ों से ये हवाएं दिल्ली तक पहुंच रही हैं। विभाग के अनुसार ताजा पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय की ओर बढ़ रहा है। जिससे ठंडी हवाओं का प्रभाव कम होगा और तापमान बढ़ना शुरू हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.