गर्मियों में घूमने जा रहे हैं तो इन हिल स्टेशनों पर न जाएं, नहीं तो पछताएंगे पछताना…..!

Entertainment News

  दिल्ली-एनसीआर में रहने वालों के लिए शिमला, मनाली और धर्मशाला जैसे हिल स्टेशन हमेशा से ही उनकी पहली पसंद रहे हैं।  यही वजह है कि गर्मी बढ़ने के साथ ही इन जगहों पर लोगों की भीड़ जमा हो जाती है.  आज हम आपको 8 ऐसे हिल स्टेशनों के बारे में बताते हैं जो न तो खूबसूरती के मामले में मशहूर हिल स्टेशनों से कम हैं और न ही भीड़-भाड़ वाले।

 शिमला-मनाली की जगह ट्राई करें ये 10 नई जगहें, पारा 44 पर जाते ही इन मशहूर जगहों पर लगी भीड़ 

 दिल्ली-एनसीआर में पारा 44 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया है.  गर्मी की तपिश से बचने और फुरसत के पल बिताने के लिए लोग प्रसिद्ध हिल स्टेशन की ओर आ रहे हैं।  दिल्ली-एनसीआर में रहने वालों के लिए मानो शिमला, मनाली और धर्मशाला जैसे हिल स्टेशन रह गए हैं।  यही वजह है कि गर्मी बढ़ने के साथ ही इन जगहों पर लोगों की भीड़ जमा हो जाती है.  आइए आज हम आपको बताते हैं ऐसे 8 हिल स्टेशनों के बारे में जो न तो खूबसूरती के मामले में किसी मशहूर हिल स्टेशन से कम हैं और न ही यहां भीड़-भाड़ वाले।

 दिल्ली-एनसीआर में गर्मी तेज होते ही लोग सबसे पहले शिमला की ओर दौड़ पड़े।  इस वजह से गर्मियों में यहां दिल्ली-मुंबई जैसी भीड़ नजर आती है।  इसके बजाय, उत्तराखंड के औली की ओर जाना बेहतर होगा, जहाँ से आप भारत की दूसरी सबसे ऊँची चोटी नंदा देवी का दृश्य देख सकते हैं।  आप चाहें तो हिमाचल प्रदेश के कसौली या चैल भी जा सकते हैं, जहां आपको शिमला के मुकाबले कम भीड़ मिलेगी।

 गर्मी की छुट्टियों में मसूरी में माल रोड से लेकर केम्प्टी फॉल्स तक भीड़ जमा हो जाती है।  होटलों में कमरों को लेकर भी मारपीट होती है।  इसके बजाय आपको चक्कर आना चाहिए।  पर्यटकों के लिए यह एक बेहतरीन जगह है।  इसके अलावा आप मसूरी से थोड़ी दूरी पर धनोल्टी या कनाताल भी जा सकते हैं।  ये जगहें न सिर्फ मसूरी से ज्यादा खूबसूरत हैं, बल्कि कम भीड़भाड़ वाली भी हैं।

 लेह की जगह स्पीति घाटी जाएं

 लेह अब पर्यटकों के बीच बहुत प्रसिद्ध है।  बेहतर होगा कि आप इसके बजाय स्पीति घाटी जाएं।  हिमाचल प्रदेश में स्पीति घाटी को लिटिल तिब्बत कहा जाता है।  पहाड़ों और ग्लेशियरों से घिरे इस क्षेत्र में कई मठ और छोटे-छोटे गांव हैं जो पर्यटकों का स्वागत करते हैं।

 हिमाचल प्रदेश का कुफरी भी अब पर्यटकों के बीच काफी मशहूर हो गया है।  यहां जैसे ही एक छोटी सी भीड़ जमा हो जाती है, होटल में कमरा मिलना मुश्किल हो जाता है।  इसके बजाय आप मशोबरा और नाहन जैसी जगहों पर जा सकते हैं।  यहां का मौसम बहुत ठंडा है और छुट्टियां बिताने के लिए यह एक आदर्श स्थान है।

 नैनीताल अब दिल्ली-एनसीआर में रहने वालों के लिए एक बहुत ही आम पर्यटन स्थल बन गया है।  अगर आप गर्मी और भीड़ से राहत पाना चाहते हैं तो नैनीताल से थोड़ी दूर रानीखेत, भीमताल या अल्मोड़ा जैसी जगह पर जा सकते हैं।  इसके अलावा यहां से करीब एक घंटे की दूरी पर रामगढ़ काफी बेहतर डेस्टिनेशन है।  इस जगह की खूबसूरती आपको बिल्कुल भी निराश नहीं करेगी।

वीकेंड पर कई लोग मैक्लोडगंज, धर्मशाला या त्रिउंड जैसी जगहों पर घूमने का प्लान बनाते हैं।  ये तीनों डेस्टिनेशन वीकेंड पर लोगों से खचाखच भरे रहते हैं।  तो आप पालमपुर घूमने के लिए एक घंटे से अधिक समय तक ड्राइव कर सकते हैं।  इसके अलावा आप खजियार या पार्वती घाटी भी जा सकते हैं।  प्रकृति प्रेमी इन दोनों जगहों को बेहद पसंद करते हैं।

 डलहौजी दिल्ली-एनसीआर के लोगों के बीच एक बड़ा प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भी है।  गर्मियों में आपको यहां हर समय भीड़ मिल जाएगी।  अगर आप एक घंटा आगे की यात्रा करते हैं तो आप चंबा पहुंच सकते हैं।  यह जगह बहुत खूबसूरत है।  आप चाहें तो पालमपुर भी जा सकते हैं।  खूबसूरती के मामले में यह जगह डलहौजी से कम नहीं है।

 चंबा (हिमाचल प्रदेश) 

 कसोल अब यात्रियों के लिए बहुत आम है।  अगर आप सुरक्षित माहौल में कुछ नया, अच्छा खाना, शांत माहौल और यादगार पलों को देखना चाहते हैं तो आप कसोल के पास एक छोटे से गांव में जा सकते हैं।  यह गांव न सिर्फ खूबसूरत है, बल्कि बजट फ्रेंडली भी है।  इसके अलावा आप यहां से करीब 18 किलोमीटर दूर मलाणा भी जा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.