अगर करना चाहते हो शनिदेव को प्रसन्न तो हर शनिवार को करें इन मंत्रों का जाप

ज्ञान धार्मिक

यह बात तो आप सभी भली-भांति जानते होंगे कि शनिवार का दिन पूर्ण रूप से न्याय के देवता शनि देव को समर्पित है अगर सच्चे मन से आप। इस दिन उनकी उपासना करते हैं तो वह बेहद ही जल्द आपसे प्रसन्न होकर आपको आपका मनचाहा फल तथा आपके जीवन में तरक्की के माप खोल देते हैं। साथ ही साथ जिन भी व्यक्तियों पर साढ़ेसाती चल रही होती है वह उन पर भी मेहरबान होकर उनके जीवन को सवार देते हैं कहा जाता है। कि अगर आपको शनिदेव से शनि दोष से मुक्ति के लिए मूल नक्षत्र युक्त शनिवार से शुरू करके सात शनिवार तक लगातार ही शनि देव की उपासना करने के साथ-साथ उसी दिन उपवास भी रखते हैं। तो आपकी मनोकामना पूर्ण होने के लिए और भी ज्यादा फल मिल जाता है। पुरे नियमानुसार पूजा तथा उपवास करने से शनिदेव की कृपा होती है तथा सभी दुख समाप्त हो जाते हैं। शनिदेव के गुस्से से बचना काफी आवश्यक होता है नहीं तो इंसान पर कई प्रकार के दोष लग जाते हैं। इसके अतिरिक्त उनकी पूजा करते इन मंत्रों का पाठ करें तो शनि देव खुश होते हैं:-

ॐ शन्नोदेवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये शन्योरभिस्त्रवन्तु न:

ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:

ॐ ऐं ह्लीं श्रीशनैश्चराय नम:

कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम: , सौरि: शनैश्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:। इन मुख्य मन्त्रों का जाप पूरी श्रद्धा भक्ति से करने पर शनि देव का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.