अपने घर के इस स्थान पर भूलकर भी ना लगाएं अपने पूर्वजों की तस्वीर, नहीं तो आप के खुशाल जीवन पर पढ़ सकती है भारी विपदा

ज्ञान धार्मिक

हिंदू धर्म में अक्सर सभी व्यक्ति अपने घर में दीवारों पर अपने पूर्वजों की फोटो जरूर लगाते हैं लेकिन ऐसा माना जाता है। कि पूर्वजों की फोटो अगर आपने गलत फास्ट दशा में लगा दी तो उनका आशीर्वाद पाने की जगह आपको उनके घोर विरोध का सामना करना पड़ सकता है जिससे मुक्ति आपको जीवन भर नहीं मिल पाती है और आप उसकी असल वजह भी समझ नहीं पाते हो। किन्तु वास्तुशास्त्र के मुताबिक, घर में पूर्वजों की फोटोज लगाते वक़्त कुछ बातों की सावधानी भी रखनी चाहिए। ऐसा न करने पर घर में कई प्रकार की समस्यां आती रहती हैं। कभी भी हमें अपने पूर्वजों की फोटोज देवी-देवताओं के साथ नहीं लगाना चाहिए। ये बात अलग है कि हमारे पूर्वज भी देवताओं की भांति ही शक्तिशाली होते हैं किन्तु इनको देवताओं के समकक्ष नहीं माना जाता है। ऐसा करने से देवदोष लगता है तथा देवी-देवताओं के शुभ फल भी हमें नहीं मिलते हैं।

आइए जानते हैं कि घर में पूर्वजों की फोटोज लगाते वक़्त किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए…

* वास्तुशास्त्र के अनुसार, कभी भी पूर्वजों की फोटोज बेडरूम या किचेन में नहीं लगाना चाहिए। बेडरूम अथवा किचेन में पूर्वजों की फोटो लगाने से घर में पारिवारिक विवाद बढ़ने लगता है तथा सुख-समृद्धि भी कम होने लगती है।
* घर के मध्य भाग में भी कभी पूर्वजों की फोटो नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से मान-सम्मान की हानि होती है।
घर के पूर्वजों की फोटोज कभी भी घर के जीवित व्यक्तियों के साथ नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से जीवित मनुष्य पर इसका नकारात्मक असर पड़ता है। जिससे जीवित मनुष्य की उम्र कम हो जाती है।
* घर में पूर्वजों की फोटोज कभी भी लटकते हुए या झूलते हुए नहीं लगाना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से मनुष्य का जीवन भी तस्वीर की ही भांति लटकता और झूलता रहता है।

घर में यहां पर लगानी चाहिए पूर्वजों की तस्वीरें: वास्तुशास्त्र के अनुसार पूर्वजों की तस्वीरों को हमेशा घर के उत्तरी भाग के कमरों में लगाना चाहिए। अगर ऐसा संभव न हो तो घर में पूर्वजों की फोटो उत्तरी दिवार से लगाना चाहिए, जिससे इनकी दृष्टि हमेशा दक्षिण की ओर बनी रहे। ऐसा करने से घर में अकाल मृत्यु तथा खतरे से बचाव होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.