क्या आपको पता है अमरनाथ की ओर जाते हुए भगवान शिव ने कर दिया था त्याग सभी वस्तुओं का

ज्ञान धार्मिक

आपने आनेको कहा में सुनी होंगी अमरनाथ गुफा से जुड़ी हुई लेकिन आज हमको ऐसे गाने सुनाने वाले हैं। जिसके बारे में आपने आपसे पहले कभी नहीं सुना होगा आप को इस कहानी के बारे में बिल्कुल भी अंदाजा यह अपेक्षा नहीं होगी इस कहानी को बसंत जानने के लिए आपको इस आर्टिकल को पूरे ध्यान से पढ़ना होगा तभी आप किसी निष्कर्ष तक पहुंच सकते हैं कि इस कथा का असल अर्थ क्या है। वहीं उसी तत्वज्ञान को ‘अमरकथा’ के नाम से पहचाना जाता है. आप सभी को बता दें कि अमरनाथ गुफा जाते वक्त शिवजी ने बहुत सी चीजों का त्याग किया था. जी हाँ, अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं अमरनाथ गुफा जाते वक्त शिवजी ने किन्हें त्याग दिया था.

कहा जाता हैअमरनाथ गुफा की ओर जाते हुए शिव सर्वप्रथम पहलगाम पहुंचे, जहां उन्होंने अपने नंदी (बैल) का परित्याग किया.

– उसके बाद आगे चलते हुए उन्होंने चंदनवाड़ी में अपनी जटा (केशों) से चंद्रमा को मुक्त किया.

– कहा जाता है उसके बाद शेषनाग नामक झील पर पहुंचकर उन्होंने अपने गले से सर्पों को भी उतार दिया.

– कहते हैं प्रिय पुत्र श्री गणेशजी को भी उन्होंने महागुनस पर्वत पर छोड़ देने का निश्चय किया.

– उसके बाद उन्होंने पंचतरणी पहुंचकर पांचों तत्वों का परित्याग किया था.

– कहा जाता है अंत में सबकुछ छोड़कर भगवान शिव ने इस अमरनाथ गुफा में प्रवेश किया और पार्वती जी को अमरकथा सुनाई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.