रावण था बहुत बड़ा ब्राह्मण और साथ ही साथ था एक राक्षस भी जानिए कुछ खास बातें महा पंडित की

ज्ञान धार्मिक

इस पूरे विश्व में राम नाम की आपको अनेकों व्यक्ति मिल जाएंगे लेकिन यह बात बिल्कुल सत्य प्रतिशत सत्य है कि रावण नाम का आपको एक भी व्यक्ति नहीं मिलेगा और पूरे विश्व में रावण को केवल कुछ ही जगहों पर पूजा जाता है अन्यथा बाकी सभी जगह है उसे बुरा समझा जाता है अभी तक के पूरे संसार में रावण एक ही था एक ही है और एक ही रहेगा यह बात सत्य है कि रावण के व्यक्तित्व से लगभग हर एक व्यक्ति परिचित है। लांकि रावण से जुड़ीं कुछ ख़ास बातों के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं. तो आइए ऐसे में जानते हैं रावण की कुछ ख़ास बातें…

रावण से जुड़ीं कुछ ख़ास बातें

– आपने रावण को राक्षस और ब्राह्मण दोनों ही नाम से सुना होगा. बता दें कि रावण आधा ब्राह्मण और आधा राक्षस था. रावण के पिता विश्वश्रवा ब्राह्मण जबकि रावण की माता कैकसी राक्षस कुल की थी.

– रावण और कुबेर सौतेले भाई थे.

– जैन धर्म में रावण का उल्लेख मिलता है. रावण को जैन धर्म के 64 शलाका पुरुषों में गिना जाता है.

– रावण के 10 सिर को लेकर भी कथन बहुत प्रचलित है. हालांकि वास्तव में ऐसा नहीं था. इसके पीछे ऐसा कहा जाता है कि रावण के गले में गोल आकार की 9 मणियां हुआ करती थी और इस कारण से रावण के 10 सिर नज़र आते थे.

– रावण को वीणा बजाना काफी अच्छा लगता था. रावण संगीत प्रेमी माना जाता था.

– रावण को शिव जी के परम भक्तों के रूप में जाना जाता है. ऐसा भी कहा जाता है कि रावण के समान पृथ्वी पर आज तक कोई शिव भक्त नहीं हुआ.

– रावण ने कई ग्रंथों की रचना की. इनमें शिव तांडव स्तोत्र, रावण संहिता और अरुण संहिता आदि है. बता दें कि शिव तांडव स्तोत्र आज के समय में बहुत प्रचलित है. भगवान शिव का उल्लेख रावण ने इसमें किया है.

– रावण एक महान राजा भी था. वह इस बात से भली-भांति परिचित था कि राज्य सुचारू रुप से कैसे चलाया जाता है.

– रावण के पास एक पुष्पक विमान भी था, जिसमें वह माता सीता का हरण कर लंका ले गया था. उसके पुष्पक विमान की ख़ास बात यह थी कि उसका आकार छोटा बड़ा हो सकता था. जबकि उसकी गति भी रावण खुद बढ़ा-घटा सकता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.