इस मंत्र का मन से करे जाप और पाए अपने जीवन में सफलता

राशी-भविष्य

जीवन में सफलता प्राप्त कोण नहीं करना चाहता , किसको अपना जीवन सुखी अच्छा नहीं लगता। किसी किसी व्यक्ति को बिना श्रम करे सब कुछ मिल जाता है , किसी व्यक्ति को कठिन परिश्रम करके भी कुछ नहीं मिलता। चाणक्य ने अपनी नीतियों में सफलता को प्राप्त करने के लिए कुछ मंत्र लिखे हुए है , जिनका आप अगर सच्चे मन से जाप करते है तो आपको सफलता जरूर प्राप्त होती है।

चाणक्य नीति के मुताबिक दृढ़ निश्चय सफलता की कुंजी है। चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ के छठे अध्याय के 16वें श्लोक के जरिये इस बात को समझाने का प्रयास किया है।

प्रभूतंकार्यमल्पंवातन्नरः कर्तुमिच्छति।
सर्वारंभेणतत्कार्यं सिंहादेकंप्रचक्षते॥

वही इस श्लोक के जरिये चाणक्य ने कहा है कि जिस तरह शेर पूरी ताकत के साथ झपट्टा मारकर अपना शिकार करने में कामयाब होता है। ठीक उसी तरह मनुष्य को दृढ़ निश्चय के साथ अपना उद्देश्य निर्धारित करना चाहिए। चाणक्य के मुताबिक, निराशावादी नहीं होना चाहिए बल्कि पूरी इच्छा और ताकत से अपना उद्देश्य निर्धारित करना चाहिए। ऐसे करने से कार्यों में कामयाबी अवश्य प्राप्त होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.