अगर जीवन में बनना चाहते हो धनवान व्यक्ति तो तुरंत अपनाएं ये विशेष उपाय

ज्ञान धार्मिक

इआचार्य चाणक्य द्वारा लिखी गई चाणक्य नीति में हमेशा से सबसे प्रमुख विषय माना गया है मानव मंत्र को जिंदगी के किसी भी पहलू की व्यवहारिक शिक्षा देना है। चाणक्य नीति में हमेशा से ही आम तौर पर मुख्य और धर्म संस्कृत न्याय शांति शिक्षा से संबंधित मानव जीवन की प्रगति झांकियों को पेश करने का अनुरोध किया गया है। किस ग्रंथ में हमेशा सही मनुष्य जिंदगी के सभी दिक्कतों से छुटकारा पाने के उपाय बताए गए उपाय के रास्ते पर अग्रसर रहे तो आपको जीवन में धन मिल सकता है आपको के नियमों का पालन करना होगा।

उपार्जितानां वित्तानां त्याग एव हि रक्षणाम्।
तडागोदरसंस्थानां परीस्रव इवाम्भसाम्।।

अर्थात, इंसान को धनवान बनने के लिए कई बातों का ख्याल रखना चाहिए। वो बोलते हैं कि सबसे पहले इंसान को धन के खर्च तथा उसे बचाने का ढंग पता होना चाहिए। उनके अनुसार, पैसे का सही उपयोग न हो तो वो मनुष्य को गरीब बना देता है। साथ ही वो बताते हैं कि जैसे तालाब का पानी अधिक दिन तक एक स्थान पर रहने से सड़ जाता है ठीक उसी तरह पैसे को अधिक दिन तक बचाकर रखने से भी उसकी अहमियत समाप्त हो जाती है। पैसों के लेन-देन के मामले में शर्म को परे रख देना ही उचित होता है। पैसों के मामले में शर्म करने पर मनुष्य कई बार अपने ही धन से वंचित रह जाता है। साथ-साथ कारोबार में उसे भारी हानि का भी सामना करना पड़ता है तथा देखते ही देखते निर्धनता उसे घेर लेती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.