उत्तराखंड में तीरथ सरकार की फिर से दिखाई दी बड़ी कार्रवाई..ट्रेन उल्टी चलाने वाले तीन कर्मचारी सस्पेंड

खबरे शहर

बुधवार को दिल्ली से यात्रियों को लेकर टनकपुर जा रही पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस उल्टी दौड़ने लगी थी। ट्रैक पर एक गाय से टकराने के बाद ट्रेन विपरीत दिशा में चलने लगी, जिससे यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। अधिकारियों ने मामले की जांच कराने के साथ दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही थी। ऐसा ही हुआ भी, ट्रेन के उल्टे दौड़ने के मामले में रेलवे ने देर रात गार्ड, लोको पायलट और सह लोको पायलट को निलंबित कर दिया। मामले की जांच के लिए एक टीम गठित की गई है। गुरुवार को टीम ने खटीमा पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। इस दौरान एयर प्रेशर वैक्यूम पाइप फटने और इंजन में आए फॉल्ट की जांच की गई। इज्जतनगर मंडल के पीआरओ राजेंद्र सिंह ने बताया कि शुरुआती जांच में दोषी पाये जाने वाले कर्मचारियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई है। गार्ड, लोको पायलट और सहायक लोको पायलट को बुधवार रात निलंबित कर दिया गया

मंडल मुख्यालय से दो मैकेनिक इंजन के फॉल्ट की जांच के लिए खटीमा पहुंचे हैं। वो अपनी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंपेंगे। आपको बता दें कि बुधवार को पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस (505326) शाम करीब चार बजे यात्रियों को लेकर दिल्ली से टनकपुर आ रही थी। इस दौरान एक किमी पहले होम सिग्नल के पास एक गाय से टकराने के बाद ट्रेन रुक गई। इसके कुछ ही देर बाद ट्रेन अचानक उल्टी दौड़ने लगी, जिससे यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। इससे पहले कि कोई हादसा होता चकरपुर-खटीमा के बीच गेट संख्या 35 सी पर लाइन पर मिट्टी और बजरी डालकर किसी तरह ट्रेन को रोक दिया गया। इस दौरान ट्रेन ने उल्टे दौड़ते हुए करीब 20 किलोमीटर का सफर तय किया। हालांकि राहत ये रही कि ट्रेन में सवार सभी यात्री सुरक्षित हैं। किसी तरह के जान-माल का नुकसान नहीं हुआ। रेलवे अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.