गढ़वाल में शादी के दिन भी दफ्तर पहुंचा दूल्हा… निपटाए पहले अपने सारे काम, तब जाके लिए 7 फेरे..

खबरे धर्म शहर

‘कार्य ही पूजा है’। ये लाइन हम अक्सर सुनते हैं, लेकिन दुनिया में कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो इस लाइन को जीवन में उतार लेते हैं, उसे जीते हैं। पौड़ी के जिला होम्यो चिकित्सा विभाग में वरिष्ठ सहायक पद पर कार्यरत प्रीतम गैरोला ऐसे ही लोगों में शामिल हैं। 27 नवंबर को इनकी शादी है। प्रीतम गैरोला ने शादी लिए छुट्टी ली हुई थी, लेकिन विभागीय कार्य निपटाने के लिए वो 26 नवंबर को मंगल स्नान के बाद सीधे दफ्तर पहुंच गए। दफ्तर आकर अपने विभागीय कार्य निपटाए। हालांकि शादी के लिए प्रीतम ने छुट्टी ली हुई थी, लेकिन इसके बावजूद वो दफ्तर पहुंच गए। यहां आकर काम भी किया। करीब एक घंटे तक वो दफ्तर में काम करते रहे। उसके बाद घर लौटे और विवाह की दूसरी रस्में निपटाईं। दूल्हे प्रीतम की दफ्तर में काम करते हुए एक तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। जिसमें वो दफ्तर में विभागीय कार्य करते नजर आ रहे हैं। लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं, उन्हें सलाम कर रहे हैं। जिला होम्यो चिकित्सा विभाग में कार्यरत प्रीतम ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि एकाएक वो सोशल मीडिया की नई सनसनी बन जाएंगे।

उन्होंने कहा कि कुछ आवश्यक डेटा स्थानीय संगठन को जल्दी से भेजा जाना चाहिए। वह इन आंकड़ों के लिए जवाबदेह था। यह डेटा उनके कार्यालय में तैनात कर्मचारियों के प्रशासन के संबंध में था। डेटा के महत्व को समझते हुए, वह अपने स्वयं के विवाह समारोह के बावजूद कार्यस्थल पर पहुंचे और क्षेत्र संगठन को मौलिक डेटा भेजा। प्रीतम सेहरा पहन कर कार्यस्थल पर गया। उस बिंदु पर उनके सहयोगी ने उनकी एक तस्वीर क्लिक की। जो वेब पर एक वेब सनसनी में बदल रहा है। काम के लिए समर्पित, प्रीतम को एक टन तालियां मिल रही हैं। प्रीतम पहले रुद्रप्रयाग क्षेत्र में तैनात थे। पिछले तीन वर्षों में, वह पौड़ी गढ़वाल क्षेत्र में सेवा कर रहे हैं। उनके दयालु प्रतिनिधियों ने अतिरिक्त रूप से प्रीतम का पालन किया। क्षेत्र के होमो मेडिकल ऑफिसर डॉ। कमल कुमार ने कहा कि प्रीतम की कार्यशैली की संपूर्णता कायम है। वह अपनी शैली और सौम्य आचरण के कारण मंडल में सभी से पोषित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.